दो वर्षों बाद लोगों ने किए ममी के दीदार

दो वर्षों बाद लोगों ने किए ममी के दीदारgaonconnection

लखनऊ। तीन हजार साल पुरानी ममी को अब आप राज्य संग्रहाल के इजिप्ट गैलरी में देख सकेंगे। बुधवार को प्रदेश की संस्कृति राज्य मंत्री अरूण कुमारी कोरी द्वारा इजिप्शियन वीथिका (ममी वीथिका) का लोकापर्ण किया गया । बीते दो वर्षों से ममी को संरक्षित करने और दर्शकों को आकर्षित करने के लिए इजिप्शियन गैलरी का निर्माण किया जा रहा था, जिसके चलते ममी को सुरक्षित स्थान पर रख दिया था।

 गैलरी में मिस्र के उस दौर की कई कलाकृतियां (म्यूरल्स) भी बनाकर लगाई गई हैं। राज्य संग्रहालय के निदेशक यशवंत सिंह राठौर ने बताया, “निर्माण के चलते ममी को दर्शकों से दूर कर दिया गया था। इस बीच ममी खराब हो गई थी। नेशनल रिसर्च लेबोरटरी फॉर कंजर्वेशन ऑफ कल्चर प्रॉपर्टी की गाइडलाइन को फॉलो करते हुए ममी को रखा गया है।” 

अपनी बात को जारी रखते हुए राठौर बताते हैं, “अभी तक लोगों ने एक ममी देखी थी, लेकिन इस गैलरी में दर्शकों को कई और ममी दिखेंगे और साथ उनकी जीवनशैली और सभ्यता जैसी कई जानकारी मिलेंगी। इजिप्शियन गैलरी के निर्माण में लगभग एक करोड़ रुपए का खर्चा आया है। 

देश के किसी और संग्रहालय में इजिप्शियन गैलरी नहीं है।”राज्य संग्रहालय में रखी गई तीन हजार वर्ष पहले की ममी को वर्ष 1952 में लंदन के जेजे पॉर्टर संग्रहालय से खरीदा गया था।  

जल्द ही इजिप्ट गैलरी होगी डिजिटल 

निदेशक यशवंत राठौर ने बताया, “जल्द ही डिजिटल पर्सनल गाइड से गैलरी को जोड़ा जाएगा। अभी इसका डेमो चल रहा है। इसके जरिए जैसे ही संग्रहालय वाई-फाई जोन में आएंगे और स्टेट म्यूजियम लखनऊ पर क्लिक करेंगे। वैसे ही गैलरी में रखी ममी और गैलरी में 50 ऑब्जेक्ट के बारे में जानकारी मिलेगी।” 

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top