दस वर्षों से बंद कानूनगो कार्यालय पर कब्ज़ा

दस वर्षों से बंद कानूनगो कार्यालय पर कब्ज़ागाँव कनेक्शन

देखरेख के आभाव में कर्यालय के पास लगा गंदगी का ढेर, राजस्व विभाग अंजान

सुलतानपुर। दस वर्ष से बंद पड़े कानून गो (भू लेख निरीक्षक) कार्यालय पर होमगार्ड के ब्लॉक अधिकारी ने अपना कब्जा कर लिया। देख-रेख के आभाव में कार्यालय के आसपास गंदगी का ढ़ेर लगा है।

जिला मुख्यालय से लगभग 19 किमी दूर इलाहाबाद-फैज़ाबाद मार्ग पर स्थित कूरेभार थाने के सामने कानून गो कार्यालय बनाया गया था। 24 फरवरी 1992 को फैज़ाबाद मंडल के आयुक्त सुरेन्द्र पाल गौण और तत्कालीन ज़िलाधिकारी मंगला प्रसाद मिश्र ने इसका निर्माण कराया था। कानून गो कार्यालय बनने से आस-पास के गाँव के लोगों को आसानी हो गयी थी।

फूलपुर गाँव के रामभवन मिश्रा (उम्र 55 साल) बताते हैं,  ''पहले यहां पर कानूनगो अपने आवास पर रहते थे और जनता की समस्या का निस्तारण करते थे, लेकिन लगभग एक वर्ष से ज्यादा हो गए। यहां कोई नहीं रहता। हां इतना हो गया है अब यह होमगार्ड के बीओ ने इसको अपने कब्जे में लेकर अपने विभाग का काम निपटाते हैं इस अवैध कब्जे पर राजस्व विभाग भी कोई कार्यवाही नहीं कर रहा है।’’ 

सात-आठ वर्षो तक इस कार्यालय में कानूनगो आते रहे, लेकिन इसके बाद कार्यालय से विभाग ने एकदम से नाता तोड़ लिया। पिछले दस वर्षों से कार्यालय में ताला बंद हो गया। खाली पड़े कार्यालय पर होमगार्ड के ब्लॉक अधिकारी ने अपना कब्जा कर लिया है।

अमरबोझा गाँव के शशीकांत पान्डेय (उम्र 45 साल) कहते हैं,  ''पहले हम किसानों को खसरा खतौनी की जरूरत पड़ती थी तो सीधे यहां पहुंच जाते थे लेखपाल भी यहीं मिल जाते थे कम समय में और कम पैसा में काम हो जाता था लेकिन अब हम लोगों को यह ध्यान रखना पड़ता है कि तहसील में हाजिरी कब है उसी दिन जाने पर सारे अधिकारियों मिलते हैं और काम हो पाता है इस तरह से हम किसानों का खेती का कार्य भी रूक जाता है और समय पैसा दोनों जाता हैं।’’

वर्तमान में कूरेभार में नियुक्त कानून गो चंद्रदेव सिंह ने बताया, ''लगभग एक साल से हमने चार्ज लिया है इसके पहले कई सालों से लालमनि चौरसिया कानूनगो के पद पर थे। यह कार्यालय कई वर्षों से जर्जर है इसलिए हम अपना कार्य यहां नहीं करते हैं रही बात की यह कार्यालय होमगार्ड के बीओ के कब्जे में है तो हम कब्जा हटवा देगे।’’

रिपोर्टर - केडी शुक्ला

Tags:    India 
Share it
Top