दुबई वाले खा रहे बाराबंकी की मिर्च

दुबई वाले खा रहे बाराबंकी की मिर्चगाँव कनेक्शन

बाराबंकी। जनपद में मेंथा के बाद किसान मिर्च की खेती कर मुनाफा कमा रहे हैं। यहां से हर दिन सैकड़ों कुंतल मिर्च प्रदेश के कई सब्जी मंडियों में भेजी जा रही है। वहीं एक किसान ऐसे भी हैं, जिनकी मिर्च दुबई तक जा रही है। दुबई के लोग भी बाराबंकी मिर्ची का स्वाद ले रहे हैं।

बाराबंकी जिले के निंदूरा ब्लॉक के निंदूरा गाँव के किसान अरुण कुमार मौर्या (40 वर्ष) पिछले कई साल से दूसरे किसानों की तरह ही मिर्च की खेती करते आ रहे हैं। पिछले बार उन्होंने दो बीघे मिर्च 90 हजार रुपये में बेची थी।

अरुण कुमार मौर्या बताते हैं,“पैक हाउस में मिर्च देने पर मंडी से 5-10 रुपये ज्यादा भाव मिलता है। जैसे अगर मंडी में 50 रुपये भाव है तो वहां पर साठ रुपये में मिर्च बिकती है। वहां से 1 हजार रुपये किराया अलावा मिलता है। मिर्च बोरी के बजाय डाला में भरकर जाती है और वहां पर सीधे कांटे पर तौल हो जाती है।”अरुण कुमार ने इस बार पिछली बार से ज्यादा मिर्च लगायी है। 

वो कहते हैं, “पिछली बार दो बीघे में मिर्च लगायी थी, जिसे 90 हजार रुपये में बेचा था, लागत निकालकर आमदनी 25 हजार रुपये की हुई थी।” वो आगे बताते हैं,“तरल जैविक खाद के प्रयोग से मिर्च की गुणवत्ता में फर्क आया है, इसीलिए मेरी मिर्च दुबई तक जाती है।

मलिहाबाद स्थित मैंगो पैक हाउस से मिर्च, लौकी, भिंडी, करेला, ग्वार जैसी सब्जियां पैक होकर खाड़ी देशों जैसे दुबई जैसे देशों में भेजी जाती हैं। पैक हाउस के निदेशक मोहसिन खान बताते हैं, “पिछले कई साल से खाड़ी देशों में सब्जियां भेजी जाती थीं, लेकिन इस बार से यूरेपियन देशों में भी शुरुआत की गयी है।”

रिपोर्टर - दिवेन्द्र सिंह

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top