हिरोशिमा पर अमेरिका के परमाणु बम हमले की आज है 72वीं बरसी  

हिरोशिमा पर अमेरिका के परमाणु बम हमले की आज है 72वीं बरसी  प्रतीकात्मक फोटो 

तोक्यो (एएफपी)। जापान में हिरोशिमा पर अमेरिका के परमाणु बम हमले की आज 72 वीं बरसी है जबकि परमाणु हथियारों पर देश का पारंपरिक अंतर विरोध एक बार फिर से उभर कर सामने आ गया है।

पिछले ही महीने, जापान परमाणु हथियारों पर प्रतिबंध लगाने वाली संयुक्त राष्ट्र की एक संधि को खारिज करने में परमाणु हथियारों से संपन्न ब्रिटेन, फ्रांस और अमेरिका के साथ शामिल हुआ था और यह बरसी उसी पृष्ठभूमि में हो रही है।

ये भी पढ़ें-छत्तीसगढ़ के इस पर्वत पर पांडवों ने गुजारा था अज्ञातवास

जापान एकमात्र देश है जिसपर परमाणु बम बरसाए गए। ये बम 1945 में गिराए गए। जापानी प्रधानमंत्री शिंजो एबे ने हिरोशिमा शांति स्मारक पार्क में आयोजित वार्षिक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि जापान को उम्मीद थी कि परमाणु हथियारों से मुक्त दुनिया के लिए इस तरह कदम उठाया जाएगा जिससे सभी देश सहमत होंगे।

एबे ने कहा, परमाणु हथियारों से मुक्त दुनिया के निर्माण के लिए हमें परमाणु हथियार संपन्न और परमाणु हथियार नहीं रखने वाले देश दोनों की भागीदारी की जरुरत है।

उन्होंने संयुक्त राष्ट्र संधि की सीधे चर्चा किए बगैर कहा कि परमाणु हथियारों को खत्म करने की दिशा में प्रगति करने के लिए हमारा देश दोनों पक्षों को प्रोत्साहित कर अंतरराष्ट्रीय समुदाय का नेतृत्व करने के लिए प्रतिबद्ध है।

ये भी पढ़ें-अब भारतीयों के लिए आसान होगा अमेरिका में रहना, बस ये है शर्त

जापानी अधिकारियों ने संयुक्त राष्ट्र परमाणु हथियार प्रतिबंध संधि की यह कह कर आलोचना की कि इससे परमाणु हथियार संपन्न देशों और परमाणु हथियार नहीं रखने वाले देशों के बीच विभाजन बढ रहा है। संधि पर वार्ता या उस पर मत विभाजन में परमाणु हथियारों से संपन्न नौ देशों में से किसी ने भी हिस्सा नहीं लिया।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिएयहांक्लिक करें।

First Published: 2017-08-06 15:52:05.0

Share it
Share it
Share it
Top