भारत में ऑपरेशन के बाद अबु धाबी में जारी रहेगा दुनिया की सबसे ज्यादा वजन वाली महिला का इलाज

भारत में ऑपरेशन के बाद अबु धाबी में जारी रहेगा दुनिया की सबसे ज्यादा वजन वाली महिला का इलाजसर्जरी के बाद  ईमान।

(एएफपपी)। सर्जरी से पहले तक दुनिया की सबसे ज्यादा वजन वाली महिला, ईमान अहमद अब्द अल अती को भारत में वजन घटाने के लिए एक ऑपरेशन किए जाने के बाद इलाज जारी रखने के लिए अबु धाबी के अस्पताल में भर्ती किया गया है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

ईमान को अबु धाबी के अस्पताल में बृहस्पतिवार को भर्ती कराया गया। मार्च में मुंबई में सर्जरी से पहले उसका वजन करीब 500 किग्रा था। भारत में सर्जरी के बाद उसका वजन 323 किग्रा कम हो गया है। उसे एलिफैनटाइसिस के साथ कई बीमारियां हैं। इस बीमारी में हाथ, पैर और शरीर के बाकी हिस्सों में सूजन आ जाती है। भारत में वजन कम करने लिए ईमान को तरल आहार पर रखा गया था जिससे डॉक्टर उसकी बैरिएट्रिक सर्जरी कर सकें। मोटापे की बढ़ती समस्या का सामना कर रहे भारत में यह सर्जरी आम है।

ईमान एक विशेष एयरबस विमान से फरवरी में भारत आई थी। मुंबई में उसका इलाज करने वाले डाक्टरों ने कहा कि जब उसका वजन 176.6 किग्रा हो जाएगा तब उसके लिए अबु धाबी के वीपीएस बुर्जील अस्पताल में फिजियोथेरेपी का एक साल का कोर्स शुरू किया जाएगा।

वीपीएस बुर्जील के मेडिसिन विभाग की निदेशक सैनेट मेयर ने ईमान की यात्रा से पहले कहा था, “हमने ईमान के लिए इटली से एक हाइड्रॉलिक स्ट्रेचर मंगवाया है। सफर में उसके पास इस स्ट्रेचर के साथ डॉक्टरों, पैरामेडिक्स और नर्सों की सुविधा होगी।”

इलाज के लिए अबु धाबी क्यों?

संयुक्त अरब अमीरात के अखबार की खबर के अनुसार, ईमान की बहन शाइमा भारत में अपनी बहन के इलाज से संतुष्ट नहीं थी। उनका कहना, “मैंने उसकी हालत में जिस सुधार की उम्मीद की थी, वैसी न देखकर (संयुक्त अरब अमीरात में) मदद मांगी।” यही वजह है कि ईमान को अबु धाबी ले जाया गया। भारत आने से पहले ईमान मिस्र के इस्कंद्रिया शहर में रहती थी और करीब 20 साल से घर से बाहर नहीं निकली थी। ईमान को वजन ज्यादा होने की वजह से मधुमेह, उच्च रक्तचाप, हाइपरटेंशन और नींद न आने की समस्या हो गई थी। वह ठीक से बोल नहीं पाती और आंशिक रूप से लकवाग्रस्त है। भारत में किफायती इलाज, अच्छी सेवा और कोई प्रतीक्षा सूची न होने की वजह से बड़ी संख्या में लोग इलाज के लिए जाते हैं।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top