दलाई लामा का पक्ष लेकर अमेरिकी सांसद ने चीनी मीडिया की आलोचना की

दलाई लामा का पक्ष लेकर अमेरिकी सांसद ने चीनी  मीडिया की आलोचना कीदलाई लामा।

वाशिंगटन (भाषा)। अमेरिका के एक वरिष्ठ सांसद ने दलाई लामा की मेहमाननवाजी करने पर कैलिफोर्निया के एक विश्वविद्यालय और भारतीय मूल के उसके चांसलर को 'धमकी' देने पर चीन के एक समाचार पत्र की आलोचना की है।

तिब्बत के धर्म गुरु दलाई लामा ने 17 जून को सान डियागो में यूनिवर्सिटी कैलिफोर्निया में एक संबोधन दिया था। कैलिफोर्निया की सीनेटर डी फिन्स्टीन ने कहा, ' 'मैं इसे बेहद अनुचित मानती हूं कि चीन की कम्यनिस्ट पार्टी के मुखपत्र ग्लोबल टाइम्स का एक रिपोर्टर दलाई लामा को बुलाने के लिए यूसी सान डियागो, उसके चांसलर और उसके छात्रों को धमकी दे रहा है।' ' कल जारी एक बयान में सांसद ने मांग की कि समाचार पत्र को तत्काल माफी मांगनी चाहिए और उस लेख को तत्काल हटाना चाहिए, जिसमें चांसलर प्रदीप खोसला के वीजा पर रोक लगाने की धमकी दी गई है।

ये भी पढ़ें : चीन पर अंकुश लगाने के लिए भारत को ढाल बनाने की जरूरत होगी: अमेरिकी थिंक टैंक

साथ ही यह भी कहा गया है कि छात्रों पर रोक लगा कर विश्वविद्यालय को दंडित किया जाएगा।' ' सांसद ने कहा, ' ' समाचार पत्र का यह दिखाना कि दलाई लामा चीन विरोधी अलगाववादी हैं यह भी स्पष्ट रूप से गलत है।' ' उन्होंने कहा, ' 'मैं दलाई लामा को 25 से भी ज्यादा वर्ष से जानती हूं और उनके तथा चीन के बीच हुई हालिया बातचीत में सीधे तौर पर शामिल थी।' '

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top