भारत की स्कूल प्रणाली में सुधार के प्रयासों में योगदान के लिए ‘कार्नेगी मेडल’ से सम्मानित हुए अजीम प्रेमजी

भारत की स्कूल प्रणाली में सुधार के प्रयासों में योगदान के लिए ‘कार्नेगी मेडल’ से सम्मानित हुए अजीम प्रेमजीअजीम प्रेमजी।

न्यूयार्क (भाषा)। इस साल 'कार्नेगी मेडल' से सम्मानित होने वाली शख्सियतों में विप्रो अध्यक्ष अजीम प्रेमजी भी शामिल हैं। समाजसेवा के क्षेत्र में दिया जाने वाला यह सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार माना जाता है। यह पुरस्कार उन्हें भारत की सार्वजनिक स्कूल प्रणाली में सुधार के उनके प्रयासों के लिये दिया गया।

अजीम प्रेमजी फाउंडेशन के संस्थापक प्रेमजी (70 वर्ष) का नाम इस साल के लिये नामित उन नौ समाजसेवियों में शामिल है जिन्हें कार्नेगी मेडल ऑफ फिलैंथ्रॉपी पुरस्कार के चयनित किया गया है। समाजसेवा में अपने उत्कृष्ट एवं अभिनव नेतृत्व क्षमता के लिये प्रेमजी का नाम इस पुरस्कार के लिये चयनित किया गया है।

कार्नेगी कॉरपोरेशन ने कहा कि विप्रो को अग्रणी अंतरराष्ट्रीय निगम में तब्दील करने के बाद प्रेमजी ने देश के सार्वजनिक स्कूलों में सुधार के लिये प्रयासों के जरिये भारतीय समाज में व्याप्त असमानता की दिशा में अपना ध्यान केंद्रित किया।

वर्ष 2017 के कार्नेगी मेडल पुरस्कार प्राप्तकर्ताओं में ह्युंग कांग चैरिटेबल फाउंडेशन की संस्थापक मेई हिंग चाक, शिक्षा, पर्यावरण और चिकित्सा अनुसंधान के क्षेत्र में उच्च-प्रभावी अनुदानों पर केंद्रित रॉबर्टसन फाउंडेशन के जुलियन रॉबर्टसन और स्कोल फाउंडेशन के संस्थापक अमेरिकी उद्यमी जेफ स्कोल का नाम भी शामिल है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप
ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

First Published: 2017-06-23 15:53:55.0

Share it
Share it
Share it
Top