भाजपा-कांग्रेस में गहमागहमी

भाजपा-कांग्रेस में गहमागहमीगाँव कनेक्शन

लखनऊ। बीजेपी को सत्ता की कमान संभाले दो साल हो गए। बीजेपी नेता खुश हैं और आला कमान ने वरिष्ठ नेताओं से लेकर कैबिनेट मंत्रियों तक को सरकार की उपलब्धियों का बखान करने के काम में लगा दिया है लेकिन कांग्रेस इस बात से इत्तेफाक़ नहीं रखती।

यूपीए सरकार में वाणिज्य उद्योग मंत्री रहे आनंद शर्मा ने कहा, ‘’बीजेपी सरकार ने देश की जनता से सिर्फ़ वादा किया है। ये वादे कभी पूरे ही नहीं किए गए।’’ रविवार यूं तो छुट्टी का दिन था लेकिन बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही दफ्तरों में जबर्दस्त गहमा-गहमी थी। लघु उद्योग मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता कलराज मिश्र और खाद्य मंत्री राम विलास पासवान दोनों एक ही वक्त पर एक ही जगह पर एक साथ बीजेपी की उपलब्धियां गिनाने के लिए पहुंचे। तो वहीं दूसरी ओर कांग्रेस ने बीजेपी के ‘फील गुड’ को ‘बैड’ बनाने के लिए दिल्ली से आनंद शर्मा को पूरी तैयारी के साथ भेजा था। 

बीजेपी ने अपनी उपलब्धियों को जनता तक पहुंचाने के लिए एड़ी चोटी का ज़ोर लगा दिया। सोशल मीडिया से लेकर टेलीविज़न और अख़बारों तक को विज्ञापनों से पाट दिया गया, लेकिन कांग्रेस ने भी बीजेपी सरकार के ज़रिए किए कामकाज में मीनमेख निकालने का पूरा इंतज़ाम कर लिया था। कांग्रेस ने बाक़ायदा एक बुकलेट जारी की है जिसका शिर्षक है ‘’प्रगति की थम गई चाल, दो साल, देश का बुरा हाल’’।

सरकार के दो साल पूरा होने के मौक़े पर सरकार का रिपोर्ट कार्ड पेश करते हुए लघु उद्योग मंत्री कलराज मिश्र ने कहा ‘’मोदी सरकार गरीबों को ध्यान में रखकर काम कर रही है’’। लघु उद्योग मंत्री के मुताबिक़ ‘’हिंदुस्तान की छवि सुधारना मोदी सरकार के लिए सबसे बड़ी चुनौती थी। आज न केवल इस चुनौती पर विजय मिली है बल्कि बेरोजगारी जैसी अहम समस्या को भी सुधारने में काफी हद तक सरकार कामयाबी हुई है।’’

बीजेपी का ‘फील गुड’ रिपोर्ट कार्ड

लघु उद्योग मंत्री ने कहा कि ‘’जनधन योजना के तहत जीरो बैलैंस पर खाते खुल रहे हैं और 21 करोड़ से अधिक खाते देश भर में खोले गए। जिनमें 37 करोड़ से अधिक की रकम जमा है। इनमें से अकेले उत्तर प्रदेश में ही 3 करोड़ 27 लाख खाते जनधन योजना के तहत खोले गए। सरकार ने सामाजिक क्षेत्र के लिए सुरक्षा बीमा योजनाएं पेश की जिसमें बेहद कम प्रीमियम पर भविष्य सुरक्षित किया जा सकता है। असंगठित क्षेत्र में पेंशन की व्यवस्था की गई। 

इन योजनाओं का लाभ करोड़ों लोगों को मिल रहा है। प्रधानमंत्री ने गरीबों को फ्री गैस कनेक्शन दिलाने के बारे में सोचा और उनकी अपील पर डेढ़ करोड़ से अधिक लोगों ने गैस सब्सिडी छोड़ी है। उज्जवला योजना के तहत तीन सालों में 5 करोड़ लोगों को फ्री गैस कनेक्शन देने का लक्ष्य तय किया है। किसानों को अब 50 फीसदी नहीं बल्कि सिर्फ 33 फीसदी फसल नष्ट होने पर पहले से डेढ़ गुना अधिक मुआवजा दिये जाने का प्रावधान किया गया है। 

गरीबों के हिस्से का पैसा अब बिचौलियों के माध्यम से नहीं बल्कि सीधे डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर स्कीम के तहत उनके खाते में पहुंच रहा है। इस तरीके से गरीबों को सीधा फायदा मिला है और 36,680 करोड़ रुपये की बचत हुई है।’’

बीजेपी के ‘फील गुड’ पर कांग्रेस का वार

बीजेपी जहां एक ओर अपनी उपलब्धियां गिना रही थी तो वहीं लखनऊ के कांग्रेस मुख्यालय में कांग्रेस के वरिष्ठ को नेता आनंद शर्मा बीजेपी की बखिया उधेड़ने में लगे हुए थे। आनंद शर्मा ने बीजेपी पर कड़ा हमला बोलते हुए कहा कि, ‘हमने बीजेपी को जो भारत सौंपा था उसकी हालत पहले से भी ज्यादा खराब हो गई है।’ आनंद शर्मा ने कहा कि बीजेपी सरकार हर मोर्चे पर नाक़ाम रही है। बीजेपी सरकार के दो साल पूरा होने के मौक़े पर जो उपलब्धियां बीजेपी सरकार गिना रही है वो बेमानी है।

आनंद शर्मा ने कहा, ‘’दो साल में खाद्य उत्पादन 265 लाख टन से घटकर 253 लाख टन हो गया है। बीते 2 साल के दौरान कृषि विकास दर अपने सबसे निचले स्तर पर पहुंच गई है। 2015 में 2,996 किसानों ने खुदकुशी की। मोदी सरकार ने हर साल 2 करोड़ नौकरियों का वादा किया था लेकिन श्रम मंत्रालय के आंकड़ों की मानें तो सिर्फ़ 1 लाख 34 हज़ार लोगों को ही नौकरियां मिलीं। बीजेपी सरकार ने 2015-16 में शिक्षा का बजट 82,771 करोड़ से घटाकर 69,074 कर दिया।’’ बीजेपी पर गैरज़िम्मेदार होने का आरोप लगाते हुए आनंद शर्मा ने कहा कि ‘’लगातार दूसरे साल भारत भयानक सूखे की चपेट में है। आज भारत की 40% आबादी भीषण कृषि और पेयजल संकट से जूझ रही है।’’ आनंद शर्मा ने कहा कि बीजेपी की हालत इतनी ख़राब है कि मोदी सरकार को नींद से जगाने और ज़रूरी राहत पहुंचाने के लिए सर्वोच्च न्यालय को फंटकार लगानी पड़ती है। 

Tags:    India 
Share it
Top