74 देशों पर बड़ा साइबर अटैक, 50 हजार से भी ज्यादा कंप्यूटर्स को बनाया गया निशाना

74 देशों पर बड़ा साइबर अटैक, 50 हजार से भी ज्यादा कंप्यूटर्स को बनाया गया निशाना74 देशों पर बड़ा साइबर अटैक

नई दिल्ली। दुनिया के 74 देशों पर शुक्रवार को बड़ा साईबर अटैक हुआ। साइबर सिक्योरिटी फर्म Kaspersky lab की मानें तो हैकर्स ने लगभग 74 दशों को रैंजमवेयर के जरिए निशाना बनाया है। इसके तहत लगभग 50 हजार से भी ज्यादा कंप्यूटर्स को निशाना बनाया गया है।

इससे कुछ ही समय पहले खबर आई थी कि इंग्लैंड के अस्पतालों पर बड़ा साइबर अटैक हुआ है, जिसमें नेशनल हेल्थ सर्विस (NHS) से जुड़े कंप्यूटर्स को निशाना बनाया गया है और लंदन, ब्लैकबर्न और नॉटिंघम जैसे शहरों के हॉस्पिटल और ट्रस्ट के कंप्यूटर्स हैक कर लिए गए हैं।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

बताया जा रहा है कि शुक्रवार दोपहर इन अस्पतालों के कंप्यूटर अचानक लॉक हो गए हैं। इसकी वजह से देश की राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा पर असर पड़ा है। साइबर अटैक की आशंका को देखते हुए मरीजों से केवल इमरजेंसी की स्थिति में ही अस्पताल आने को कहा गया है।

नॉर्थ वेस्ट इंग्लैंड में कई अस्पतालों का संचालन करने वाले एनएचएस मर्सीसाइड ने ट्वीट किया, 'संदिग्ध साइबर अटैक को देखते हुए हम अपने नेशनल हेल्थ सर्विस सिस्टम और सेवा को सुरक्षित रखने के लिए हर जरूरी कदम उठा रहे हैं।''

द गार्जियन की रिपोर्ट के मुताबिक, ''अस्पताल के कंप्यूटर लॉक हो गए हैं। कथित तौर पर जो भी कंप्यूटर साइबर अटैक के शिकार हुए हैं, उसे खोलने पर पॉप अप मैसेज आ रहा है जिसमें कहा जा रहा है कि फाइल डिलीट नहीं करने के लिए 300 डॉलर बिटक्वाइन चुकाने होंगे। पैसे देने के लिए 7 दिन का समय दिया गया है।

हैकर्स ने पैसे देने के लिए 7 दिन का समय दिया गया है

इंडिपेडेंट के मुताबिक डॉक्टर्स ने सोशल मीडिया पर लिखा है, ''हमारे अस्पताल बंद हैं।'' उनके मुताबिक उन्हें मैसेज मिला है जिसमें लिखा है कि कंप्यूटर को खोलने के लिए पैसे देने होंगे। इस मैसेज के बाद सिस्टम पर कुछ काम नहीं हो सकता है।

न्यूज एजेंसी AP के मुताबिक ब्रिटेन के कई अस्पतालों का कहना है कि इस साइबर अटैक की वजह से उन्हें कंप्यूटर ओपन करने में काफी दिक्कत हो रही है। हैकर्स का कहना है कि पैसे देने में जितना समय लगेगा फिरौती की रकम उतनी बढ़ेगी और ज्यादा टाइम होने पर सभी फाइल्स को डिलीट कर दिया जाएगा।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top