चार मुस्लिम देशों सऊदी अरब, बहरीन, मिस्र और यूएई ने कतर से राजनयिक रिश्ते तोड़े, आतंकवाद को समर्थन का लगाया आरोप

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   5 Jun 2017 12:55 PM GMT

चार मुस्लिम देशों सऊदी अरब, बहरीन, मिस्र और यूएई ने कतर से राजनयिक रिश्ते तोड़े, आतंकवाद को समर्थन का लगाया आरोपकतर का राष्ट्रीय झंड़ा।

काहिरा (आईएएनएस)। सऊदी अरब, बहरीन, मिस्र और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) ने सोमवार को कतर के साथ राजनयिक संबंध तोड़ दिए हैं। इन देशों ने कतर पर आतंकवाद को सहयोग देने और उनके आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप करने का आरोप लगाते हुए संबंध तोड़े हैं।

अल अहराम ने मिस्र के विदेश मंत्रालय के हवाले से बताया, "कतर की नीति से अरब देशों की राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा है, इससे अरब समाज में विभाजन हो सकता है।"

इन चारों देशों ने कतर के साथ राजनयिक संबंध तोड़ने के साथ अगले 24 घंटों के भीतर कतर से भूमि, जल और वायु संपर्क भी बंद करने का ऐलान किया है।

सऊदी अरब की सरकारी समाचार एजेंसी एसपीए के मुताबिक, कतर की सेनाओं को यमन में चल रहे युद्ध से भी हटाया जाएगा क्योंकि कतर अलकायदा और इस्लामिक स्टेट जैसे आतंकवादी संगठनों को सहयोग कर रहा है।

दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

बहरीन ने आधिकारिक बयान जारी कर कहा कि कतर हमारे आतंरिक मामलों में हस्तक्षेप कर रहा है और यह नकारात्मक प्रचार में शामिल है। बहरीन ने कतर के राजनयिकों से 48 घंटों के भीतर देश छोड़कर जाने को कहा है।

समाचार एजेंसी डब्ल्यूएएम के मुताबिक, यूएई ने भी कतर पर आतंकवाद का वित्तपोषण करने और उसे तरह की मदद मुहैया कराने का आयोग लगाया है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top