युद्ध का शोर मचाना बंद करें भारतीय थलसेना प्रमुख: चीनी सेना 

युद्ध का शोर मचाना बंद करें भारतीय थलसेना प्रमुख: चीनी सेना चीन बॉर्डर पर तैनात भारतीय सेना के जवान। फोटो : साभार इंटरनेट

बीजिंग (भाषा)। चीनी सेना ने भारतीय थलसेना प्रमुख विपिन रावत की इस टिप्पणी को ' 'गैर-जिम्मेदाराना' ' करार दिया है कि भारत ढाई मोर्चे पर युद्ध के लिए तैयार है। चीनी सेना ने रावत से कहा कि वह ' 'युद्ध का शोर मचाना बंद करें।' ' रावत ने कहा था कि चीन और पाकिस्तान के साथ-साथ अंदरुनी सुरक्षा खतरों से निपटने के लिए भारत पूरी तरह तैयार है।

भारतीय थलसेना प्रमुख की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के प्रवक्ता कर्नल वू क्वियान ने कहा, ' 'ऐसा बड़बोलापन बेहद गैर-जिम्मेदाराना है।'' उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में कहा, ' 'हमें उम्मीद है कि भारतीय थलसेना में एक खास शख्स ऐतिहासिक सबक से सीख लेंगे और युद्ध के लिए ऐसे शोर मचाना बंद करेंगे।' ' रावत ने हाल में कहा था, ' 'भारतीय थलसेना ढाई मोर्चों पर युद्ध के लिए पूरी तरह तैयार है।' '

चीनी सेना ने किया युद्धक टैंक का परीक्षण

वहीं, चीन की सेना ने आज कहा कि उसने भारतीय सीमा के निकट तिब्बत में एक हल्के वजन वाले युद्धक टैंक का परीक्षण किया है। पीएलए के प्रवक्ता कर्नल वू छियान ने कहा कि 35 टन के टैंक का परीक्षण तिब्बत के मैदानी इलाके में किया गया। वह मीडिया में आई उन खबरों का जवाब दे रहे थे, जिनमें कहा गया था कि पीएलए ने नए तरह के टैंक का तिब्बत में परीक्षण किया है।

ये भी पढ़ें : भारत-चीन संबंधों में अहम समस्या सीमा विवाद

यह पूछे जाने पर कि क्या यह परीक्षण भारत की तरफ लक्षित है तो प्रवक्ता ने कहा, ' 'इस परीक्षण का मकसद उपकरण के मानक को परखना है और यह किसी देश के खिलाफ लक्षित नहीं है।' '

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

First Published: 2017-06-29 19:44:14.0

Share it
Share it
Share it
Top