कंसास गोलाबारी में भारतीय की हत्या करने वाला पूर्व अमेरिकी नौसैनिक अदालत में पेश हुआ    

Shweta TiwariShweta Tiwari   10 March 2017 3:53 PM GMT

कंसास गोलाबारी में भारतीय की हत्या करने वाला पूर्व अमेरिकी नौसैनिक अदालत में पेश हुआ    अदालत के समक्ष पेश हुआ आरोपी

ह्यूस्टन (भाषा)। अमेरिका में नस्ली हमले में एक भारतीय इंजीनियर की गोली मारकर हत्या करने तथा दो अन्य को घायल करने का आरोपी अमेरिकी नौसेना का पूर्व सैनिक कंसास में एक अदालत के समक्ष पेश हुआ, जहां उसके वकील ने साक्ष्यों की समीक्षा के लिए और वक्त की मांग की।

एडम प्यूरिंटॉन (51) पर 22 फरवरी को 32 साल के भारतीय इंजीनियर श्रीनिवास कुचीभोटला की हत्या करने तथा आलोक मदासानी (32) को घायल करने का आरोप है। उस पर हत्या तथा हत्या के प्रयास दोनों का आरोप है। नारंगी रंग का जंपसूट पहने यह पूर्व नौसैनिक जॉनसन आउंटी सर्किट में कल पेश हुआ। उसके बाल बेतरतीब थे और वह थका हुआ नजर आ रहा था। एडम खामोशी से अदालत में बैठ गया और उसने फुसफुसाते हुए अपने वकील से कुछ बात की। वकील ने बाद में साक्ष्यों के अध्ययन के लिए अदालत से और वक्त की मांग की।

एडम को इस मामले में अब नौ मई को अदालत में पेश होना है। इससे पहले अभियोजन ने अदालत में एक हलफनामा दायर किया जिसमें उन घटनाओं का जिक्र था जिसकी वजह से गोली चली। दस्तावेज के मुताबिक श्रीनिवास और आलोक एक पब में यूनिवर्सिटी बास्केटबॉल मैच देख रहे थे। एडम वहां पहुंचा और उनसे पूछा कि क्या वे वैध आव्रजक हैं। वह दोनों भारतीयों पर चिल्लाया, ‘‘मेरे देश से बाहर निकल जाओ।’’

अभियोजकों ने कहा कि दोनों भारतीयों से लगातार बहस करने पर एडम को वहां काम करने वाले कर्मचारियों ने बाहर कर दिया लेकिन करीब 30 मिनट बाद वह फिर लौटा और तब उसके हाथ में एक बंदूक थी। आलोक ने कहा कि उसे याद है कि उसने किसी को चिल्लाते हुए सुना था, ‘‘वह वापस आ गया है और उसके पास बंदूक है।’’ श्रीनिवास को एडम ने तीन गोलियां मारीं और यूनिवर्सिटी ऑफ कंसास अस्पताल में उसे मृत घोषित कर दिया गया जबकि आलोक के पैर में एक गोली मारी गई थी। इसके बाद जब इयान ग्रिलॉट नाम के एक शख्स ने एडम को रोकने की कोशिश की तो उसने उसे भी हाथ और सीने पर गोली मार दी। ग्रिलॉट को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है और वह घर पर स्वास्थ्य लाभ ले रहा है। पुलिस ने बाद में घटनास्थल से करीब 130 किलोमीटर दूर स्थित एक रेस्तरां से एडम को गिरफ्तार किया था और फिलहाल वह 20 लाख अमेरिकी डालर के बॉण्ड पर जेल में है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top