श्रीलंका में कचरा संग्रह एक आवश्यक सेवा घोषित 

श्रीलंका में कचरा संग्रह एक आवश्यक सेवा घोषित श्रीलंका में कचरे का टीला ध्वस्त होने से जमींदोज हो गए थे कई घर।

कोलंबो (भाषा)। श्रीलंका ने कचरा संग्रह को एक ‘आवश्यक सेवा' घोषित किया है और कहा कि अगर कोई भी इस आदेश का उल्लंघन करता है तो उसे बिना किसी वारंट के गिरफ्तार कर लिया जाएगा। यह निर्णय हाल ही में एक कचरा के टीले के ध्वस्त होने से 33 लोगों के दब कर मरने और दर्जनों घरों के जमींदोज हो जाने के बाद लिया गया है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

आवश्यक सेवा के तहत आदेश में कचरा निपटान, कचरा शोधन, परिवहन और भंडारण को शामिल किया गया है। कोई भी व्यक्ति इस आदेश का उल्लंघन करता हुआ या उपरोक्त किसी भी गतिविधि को बाधित करते हुए पाया जाएगा, तो उसे बिना किसी वारंट के गिरफ्तार कर लिया जाएगा। साथ ही उसे कानून के अन्तर्गत जुर्माने के अलावा सजा भी दी जा सकती है। राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना ने कल यह आदेश जारी किया।

गौरतलब है कि श्रीलंका के निवासियों द्वारा हाल ही में पारंपरिक तरीके से नव वर्ष मनाया जा रहा था। इसी दौरान आग की एक घटना के बाद 91 मीटर ऊंचे कचरे के एक हिस्से के गिरने के कारण कोलोन्नावा के मीटोटामुल्ला इलाके में 33 लोगों की मौत हो गई। घटना में दर्जन भर आवासीय इमारतें भी जमींदोज हो गईं थी, जिसके बाद से यहां लोगों का विरोध प्रदर्शन जारी था। अब यह गजट जारी किया गया है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top