अमेरिका में मुस्लिम महिला का हिजाब फाड़ा, पिटाई की

अमेरिका में मुस्लिम महिला का हिजाब फाड़ा, पिटाई कीफोटो प्रतीकात्मक है।

वाशिंगटन (भाषा)। अमेरिका में एक व्यक्ति ने एक मुस्लिम महिला का हिजाब कथित तौर पर फाड़ दिया और महिला ने दावा किया कि उस व्यक्ति ने उसे ‘‘जानवरों की तरह'' पीटा और लगातार उसके सिर पर वार करता रहा। इसके बाद इस घृणा अपराध की जांच करने की मांग उठने लगी है।

मिल्वौकी की रहने वाली इस महिला पर उस समय हमला किया गया जब वह घर जा रही थी। मिल्वौकी पुलिस ने फॉक्स6 न्यूज को बताया कि वे इस अपराध की जांच कर रहे हैं। यह घटना सोमवार की है और पीड़िता को कल अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। पीड़ित महिला ने कहा, ‘‘मैने अपने आप से कहा कि मैं आज निश्चित तौर पर मर जाउंगी।'' महिला ने नाम ना बताने की इच्छा जाहिर करते हुए कहा कि एक कार उसकी तरफ आई।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

एक व्यक्ति कार से बाहर आया। वह व्यक्ति बस एक चीज चाहता था कि महिला अपना हिजाब उतार दें। उन्होंने एक टीवी स्टेशन से कहा, ‘‘उसने मेरा हिजाब हटाने के लिए कहा। मैने उसका मुकाबला करने की कोशिश की और कहा, ‘मेरा हिजाब मत हटाओ' आप जानते हो? उसने मुझे नीचे गिरा दिया और फिर मुझे जानवर की तरह पीटा।'' खबर में कहा गया है कि हमलावर ने हिजाब हटा दिया और उसपर खून के धब्बे लगे थे। महिला ने कहा कि हमलावर ने उसे नीचे गिरा दिया और फिर उसके सिर पर लगातार वार किये। उसने बताया कि वह उसकी जैकेट और बाजू को काटने के लिए चाकू भी लाया था। इस्लामिक सोसायटी ऑफ मिल्वौकी के मुंजीद अहमद ने कहा, ‘‘निश्चित तौर पर हम अपने समुदाय के सदस्यों के लिए डरे हुए हैं। एक इस्लामी समुदाय के तौर पर हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि हमारा समुदाय हमेशा सुरक्षित रहे।''

इस्लामी केंद्र से जुड़े लोगों का मानना है कि यह घृणा अपराध था। अहमद के हवाले से कहा गया, ‘‘कुछ भी चोरी नहीं किया गया। किसी तरह की लूटपाट नहीं की गई। उसके कीमती सामान उसके साथ है। क्योंकि हर सामान उसके साथ है और उस व्यक्ति ने सीधे उसके हिजाब की ओर हाथ बढ़ाया, जिससे इसके पीछे घृणा अपराध का उद्देश्य सामने आता है।'' पुलिस ने कहा कि वे इसकी जांच कर रहे हैं और अभी किसी संदिग्ध को हिरासत में नहीं लिया गया। यह हमला ऐसे समय में सामने आया है जब अमेरिका में हिजाब पहनने वाली महिलाओं पर हमले और घृणा अपराध की घटनाओं में वृद्धि हुई है।


ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top