लंदन हमला मामले में 12 लोग गिरफ्तार, इस्लामिक स्टेट ने ली हमले की जिम्मेदारी 

लंदन हमला मामले में 12 लोग गिरफ्तार, इस्लामिक स्टेट ने ली हमले की जिम्मेदारी IS ने करवाया था लंगन में हमला।

लंदन (एपी)। मध्य लंदन में वैन और छुरों से किए गए हमलों के बाद ब्रिटेन की पुलिस ने आतंकवादी हमले की विस्तृत जांच करते हुए 12 लोगों को हिरासत में लिया है। इस हमले में सात लोगों की मौत हो गई थी। इस्लामिक स्टेट आतंकवादी समूह ने आज इस हमले की जिम्मेदारी ली है।

हमलावर मारे जा चुके हैं लेकिन प्रशासन यह निश्चित करने की कोशिश कर रहा है कि हमलावरों के साथ अन्य सहयोगी थे या नहीं। वहीं प्रधानमंत्री टेरीजा मे ने कल चेतावनी दी कि देश नए तरह के हमले का सामना कर रहा है।

देश के बड़े राजनीतिक दलों ने आम चुनाव से कुछ दिन पहले चुनाव अभियान को अस्थायी रुप से रोक दिया है। प्रधानमंत्री ने कहा है कि चुनाव अपने तय समयसीमा पर ही बृहस्पतिवार को होंगे क्योंकि ‘हिंसा को कभी भी लोकतांत्रिक पद्धति में बाधा डालने की इजाजत नहीं दी जा सकती।’’ हमला कल उस समय हुआ जब हमलावरों ने एक किराए वाले वाहन को व्यस्त लंदन ब्रिज पर पैदल चलने वालों पर चढा दिया।

इसके बाद तीन हमलावर वाहन से छुरे के साथ निकले और बरो मार्केर्ट में बार तथा रेस्त्रां में लोगों पर तब तक हमले करते रहे जब तक कि पुलिस ने उन्हें मार नहीं गिराया। एसआईटीई इंटेलिजेंस ग्रुप के अनुसार इस्लामिक स्टेट ने अपनी अमाक समाचार एजेंसी के माध्यम से एक बयान जारी किया है। इसमें दावा किया गया है कि इस हमले के पीछे इस्लामिक स्टेट के ‘हमलावर' जिम्मेदार हैं। इस्लामिक स्टेट ने अपने समर्थकों से वाहनों को हमले में इस्तेमाल करने की अपील की है।

ये भी पढ़ें : लंदन में भारतीय टीम की सुरक्षा बढ़ी, होटल पूरी तरह से सील

इस साल ब्रिटेन में यह तीसरा हमला है, जिसकी जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट ने ली है। इसी तरह का हमला मार्च में वेस्टमिनिस्टर में हुआ था। दो सप्ताह पहले मैनचेस्टर कॉन्सर्ट में आत्मघाती हमला हुआ था। पिछले साल फ्रांस के नीस में भी बैस्टील डे के मौके पर एक वाहन ने लोगों को कुचला था। शनिवार को हमला करने वाले तीनों हमलावर आत्मघाती बेल्ट पहने हुए थे लेकिन बाद में इस बेल्ट के फर्जी होने का पता चला।

आतंकवाद निरोधक बल के प्रमुख सहायक आयुक्त मार्क राउले ने बताया कि जांचकर्ता यह पता लगा रहे हैं कि हमलावर को अन्य लोगों ने सहायता दी या नहीं।

इस हमले में दो पुलिस अधिकारी सहित 48 लोगों का इलाज अस्पताल में हो रहा है। कल तक 21 व्यक्ति गंभीर अवस्था में थे। घायल लोगों में जर्मनी, फ्रांस और स्पेन के भी नागरिक हैं। कनाड़ा के प्रधानमंत्री जस्टिन त्रुदु ने कहा है कि मरने वालों में कनाडा का भी एक नागरिक है। इस हमले में फ्रांस के भी एक नागरिक की मरने की पुष्टि हुई है।

येे भी पढ़ें : लंदन में दो आतंकी हमले, वैन से लोगों को कुचला, रेस्त्रां में लोगों को मारे चाकू

इस्लामिक स्टेट समूह ने मैनचेस्टर हमले की जिम्मेदारी ली थी लेकिन लंदन हमले की इस्लामिक स्टेट ने तत्काल जिम्मेदारी नहीं ली थी। प्रधानमंत्री ने इस हमले को इस्लामिक चरमपंथ से जोडा था। प्रधानमंत्री ने कहा था, ‘‘हमला सीधे तौर पर संबंधित नहीं था लेकिन हमारा विश्वास है कि हम खतरे के एक नए चलन को देख रहे हैं क्योंकि आतंकवाद आतंकवाद को जन्म देता है। हमलावर एक-दूसरे की नकल करते हैं।'' उन्होंने यह भी कहा कि मार्च से हमले की पांच साजिशों को नाकाम किया गया है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top