13 साल पुराने मामले में ईशनिंदक की तीन महिलाओं ने की हत्या  

13 साल पुराने मामले में ईशनिंदक की तीन महिलाओं ने की हत्या   प्रतीकात्मक।

लाहौर (भाषा)। पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में तीन बुर्कानशीन बहनों ने ईशनिंदा के 13 साल पुराने एक मामले में संदिग्ध 50 वर्षीय व्यक्ति की गोली मार कर हत्या कर दी है। घटना कल लाहौर से करीब 180 किलोमीटर दूर पसरुर तहसील के नांगल मिर्जा गांव की है।

पुलिस के अनुसार, बुर्कानशीन तीन बहनें.. अफसाना, अनमा और रजिया... अपनी परेशानियों के हल के लिए मजहर हुसैन सैयद के घर उनका आशीर्वाद लेने गयी थीं। थाना प्रभारी सईद हिंजरा ने कहा, ‘‘उनका अशीर्वाद लेने के बाद महिलाओं ने उनसे कहा कि वह अपने बेटे फजल अब्बास को बुला दें, क्योंकि उनमें से एक उनकी छात्रा रह चुकी है और उनसे मिलना चाहती है। अब्बास हाल ही में बेल्जियम से लौटे थे। अब्बास जैसे ही कमरे में आये, महिलाओं ने गोलियां चलानी शुरु कर दीं, उनकी मौके पर ही मौत हो गयी।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

महिलाओं ने अपने बुर्के के नीचे पिस्तौलें छिपाई हुई थीं।'' हिंजरा ने कहा, ‘‘हमने तीनों महिलाओं को गिरफ्तार कर लिया है। तीनों ने पुलिस से कहा कि उन्होंने एक ईशनिंदक की हत्या की है। उन्हें इसका कोई पश्चताप नहीं है। महिलाओं में से एक करीब 13 साल पहले पीडि़त की छात्रा थी, जब उन्होंने कथित रूप से ईशनिंदा की थी।''

थाना प्रभारी ने कहा कि पुलिस महिलाओं से पूछताछ कर यह जानने का प्रयास कर रही है कि अब्बास की हत्या के पीछे कोई अन्य कारण तो नहीं। हिंजरा ने कहा, यह बहुत आश्चर्यजनक है कि कैसे तीन बहनों ने 13 साल पुराने मामले पर इतना बड़ा कदम उठाया है। हम कुछ स्थानीय धर्मगुरुओं की भूमिका की भी जांच कर रहे हैं।

सूचनाओं के अनुसार, महिलाओं ने अब्बास की हत्या करने के बाद खुशी से नारे लगाए ‘‘हमने एक ईशनिंदक को खत्म कर दिया।'' थाना प्रभारी ने आरोपियों में से एक के हवाले से कहा, ‘‘हम 13 साल पहले अब्बास को नहीं मार सकीं, क्योंकि हम बहुत छोटी थीं।'' उन्होंने कहा, अब्बास के खिलाफ 2004 में ईशनिंदा कानून के तहत मामला दर्ज हुआ था। स्थानीय धर्मगुरुओं के गुस्से से बचने के लिए अब्बास बेल्जियम चले गये थे। वह हाल ही में वापस लौटे थे और स्थानीय अदालत से ईशनिंदा वाले मुकदमे में जमानत ली थी।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top