मुलाकात या मजाक: पाकिस्तान में अपनी पत्नी और मां से मिले कुलभूषण जाधव, मगर बीच में थी शीशे की दीवार

मुलाकात या मजाक: पाकिस्तान में अपनी पत्नी और मां से मिले कुलभूषण जाधव, मगर बीच में थी शीशे की दीवारपाकिस्तान के विदेश मंत्रालय कार्यालय में परिवार की कुलभूषण जाधव से हुई मुलाकात।

इस्लामाबाद। पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय कैदी कुलभूषण जाधव ने सोमवार को यहां विदेश मंत्रालय में अपनी पत्नी और मां से मुलाकात की। मगर पत्नी और मां कुलभूषण यादव को छू भी नहीं सके। लगभग 40 मिनट की यह मुलाकात एक कमरे में शीशे के दीवार के बीच हुई।

टीवी पर दिखाए जा रहे फुटेज

टीवी पर दिखाए जा रहे फुटेज में जाधव का परिवार, भारत के उपउच्चायुक्त जेपी सिंह और पाकिस्तानी महिला अधिकारी के साथ विदेश मंत्रालय के परिसर में प्रवेश करता हुआ दिख रहा है। फुटेज में सभी कार्यालय के भीतर जाते और उनके पीछे दरवाजा बंद होता दिख रहा है। सोशल मीडिया में, इस मुलाकात को मजाक बताया जा रहा है।

यह भी पढ़ें: अटल बिहारी वाजपेयी विशेष : ‘हार नहीं मानूंगा, रार नई ठानूंगा’

परिवार से जाधव की पहली मुलाकात

पाकिस्तानी अधिकारियों ने बताया कि जाधव, उनकी मां और पत्नी की मुलाकात हुई। मुलाकात दोपहर करीब एक बजकर पैंतीस मिनट पर शुरू हुई। यह मुलाकात विदेश मंत्रालय के आगा शाही ब्लॉक में हुई। जासूसी के मामले में दोषी ठहराये गये जाधव और उनके परिवार के बीच यह पहली मुलाकात है। जाधव को पिछले वर्ष तीन मार्च को गिरफ्तार किया गया था।

विदेश मंत्रालय ने तस्वीर ट्वीट की

विदेश मंत्रालय ने मंत्रालय परिसर में मौजूद जाधव की पत्नी और मां की तस्वीर ट्वीट की है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने ट्विटर पर तस्वीर साझा करने के साथ ही लिखा है, कमांडर जाधव की मां और पत्नी पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय में आराम से बैठे हैं। हम अपनी प्रतिबद्धताओं का सम्मान करते हैं। पाकिस्तान की ओर से विदेश मंत्रालय में भारत मामलों के निदेशक डॉक्टर फरीहा बुगती भी इस मुलाकात के दौरान मौजूद रहीं।

यह भी पढ़ें: अटल बिहारी वाजपेयी की ये तीन कविताएं सुनिए नीलेश मिसरा की आवाज़ में

…या जाधव को लाया गया

जाधव का परिवार सोमवार को ही दुबई के रास्ते इस्लामाबाद पहुंचा। भारतीय उच्चायोग में करीब आधा घंटा रहने के बाद वह विदेश मंत्रालय पहुंचे। जाधव अपने परिवार के पहुंचने से पहले ही विदेश मंत्रालय में मौजूद थे। इस संबंध में कोई सूचना नहीं है कि जाधव पहले से वहां मौजूद थे, या उन्हें यहां लाया गया है। हालांकि कुलभूषण जाधव ने इस मुलाकात के लिए पाकिस्तान को शुक्रिया कहा है।

स्त्रोत: भाषा

यह भी पढ़ें: हमारी सरकार के काम आम लोगों की जिंदगी में बदलाव लाने वाले हैं: मोदी

Share it
Top