संयुक्त राष्ट्र की नई शांतिदूत मलाला करेंगी बालिका शिक्षा का प्रचार  

संयुक्त राष्ट्र की नई शांतिदूत मलाला करेंगी बालिका शिक्षा का प्रचार   बालिका शिक्षा को बढ़ावा देंगी मलाला।

संयुक्त राष्ट्र (एपी)। संयुक्त राष्ट्र शांति दूत मलाला यूसुफजई ने बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए अपने कदम बढ़ा लिए हैं और उन्होंने इसके प्रचार का फैसला किया है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

मलाला का कहना है कि आतंकवादियों ने उनकी हत्या करने की कोशिश की थी लेकिन वे इसमें कामयाब नहीं हुए। इसके बाद उन्हें मिली दूसरी जिंदगी में वे लड़कियों की शिक्षा के लिए कुछ करना चाहती। इसके लिे वे काम भी कर रहीं हैं। उन्होंने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि लड़के भी लैंगिक समानता की पैरोकारी करेंगे। उन्होंने अपने मुस्लिम होने पर गर्व किया और इस बात पर जोर दिया कि इस्लाम का मतलब सही मायने में शांति है।

नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित मलाला ने इस बात पर दुख जाहिर किया कि मीडिया में मुस्लिमों को ‘आतंकवादियों’ और ‘जिहादियों’ के तौर पर पेश किया जाता है। उन्होंने कहा, “लोगों को मुझे और उन मुस्लिमों की ओर देखना चाहिए जो शांति के साथ जी रहे हैं और जो शांति में विश्वास करते हैं।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top