मेक्सिको : भूकंप में मृतकों की संख्या 61 हुई, बचाव कार्य शुरू 

मेक्सिको : भूकंप में मृतकों की संख्या 61 हुई, बचाव कार्य शुरू भूकंप के कारण बड़े पैमाने पर लोगों को सुरक्षित स्थानों पर शरण लेनी पड़ी है। 

मेक्सिको सिटी (आईएएनएस)। मेक्सिको में पिछले 100 वर्षों में आए सबसे भयानक भूकंप में मृतकों की संख्या बढ़कर कम से कम 61 हो गई है। मेक्सिको के दक्षिणी तट पर आए इस भूकंप के कारण घरों, अस्पतालों और सरकारी कार्यालयों को भारी नुकसान पहुंचा है।

भूकंप के कारण बड़े पैमाने पर लोगों को सुरक्षित स्थानों पर शरण लेनी पड़ी है। बीबीसी की रपट के अनुसार, भूकंप से बुरी तरह प्रभावित राज्यों -टाबास्को, ओक्साका और चियापस- में मलबे के नीचे फंसे लोगों को बचाने के लिए बचाव अभियान जारी है। राष्ट्रपति एनरिक पेना नीटो ने कहा कि कम से कम 200 लोग घायल हुए हैं।

ये भी पढ़ें : मध्यप्रदेश में सोयाबीन की फसल पर संकट, हरदा में किसान ने 6 एकड़ फसल जुतवाई

गुरुवार देर शाम देश के प्रशांत तट पर करीब 8.2 तीव्रता का भूकंप आया, जिसे देशभर के पांच करोड़ लोगों ने महसूस किया। राष्ट्रपति ने कहा कि यह मेक्सिको में पिछले 100 वर्षो में आया सबसे शक्तिशाली भूकंप है। सितंबर 1985 में 8.0 तीव्रता का भूकंप आया था, जिसके कारण मेक्सिको और उसके आस-पास के इलाकों में 9,500 लोगों की जान गई थी। नीटो ने एक दिन का शोक घोषित किया है। उन्होंने कहा कि मृतकों और शोकसंतप्तों के सम्मान में झंडा आधा झुका रहेगा। उन्होंने कहा कि ओक्साका में 45, चियापस में 12 और टाबास्को में चार लोगों के मरने की जानकारी मिली है।

प्राथमिक अनुमानों के मुताबिक, भूकंप से 1,700 घर, 700 स्कूल और 18 सार्वजनिक इमारतें धराशायी हो गई हैं। भूकंप से सबसे ज्यादा प्रभावित कस्बों में से एक ओक्साका के जुचिटान में 17 लोगों के मरने की जानकारी मिली है। राष्ट्रपति ने कहा कि ग्वाटेमाला में एक व्यक्ति की मौत हुई है।

ये भी पढ़ें : अक्टूबर में लहसुन की खेती करें किसान, जानिए कौन-कौन सी हैं किस्में

मेक्सिको की भूकंपविज्ञान सेवा ने कहा कि गुरुवार रात 11.49 बजे तीव्र भूकंप आया। भूकंप का केंद्र ट्रेस पिकोस, चियापास से 119 किमी दक्षिण पश्चिम में स्थित था। इसकी वजह से सुनामी की चेतावनी भी जारी की गई और चियापास के तटीय क्षेत्र में रहने वालों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया। बाद में चेतावनी हटा ली गई। शुक्रवार को पूरे दिन भूकंप के छोटे झटके महसूस किए गए।

कोलम्बिया की अपनी यात्रा के दौरान पोप फ्रांसिस ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि वह "मृतकों और उनके परिजनों के लिए प्रार्थना कर रहे हैं।" सोशल मीडिया पर मौजूद वीडियो में देश के विभिन्न हिस्सों में आए भूकंप के झटकों और इमारतों एवं बुनियादी ढांचों को क्षतिग्रस्त होते देखा जा सकता है। वीडियो में ट्रैफिक लाइट्स को भी हिलते हुए देखा जा सकता है।

ये भी पढ़ें : जरुरी नहीं कीटनाशक , मित्र कीट भी कीट-पतंगों का कर सकते हैं सफाया

First Published: 2017-09-09 19:48:16.0

Share it
Share it
Share it
Top