दुनिया के सामने तीन बड़ी चुनौतियां, दावोस में विश्व आर्थिक मंच से पीएम नरेंद्र मोदी ने हिन्दी में कहा

दुनिया के सामने तीन बड़ी चुनौतियां, दावोस में विश्व आर्थिक मंच से पीएम नरेंद्र मोदी ने हिन्दी में कहाप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

दावोस। 21 साल बाद दावोस में दुनिया के बड़े-बड़े नेताओं के सामने विश्व आर्थिक मंच की बैठक का उद्घाटन भाषण देते हुए भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि वर्ष 1997 की तुलना में आज भारत की जीडीपी छह गुना बढ़ी। वर्ष 1997 की तुलना में आज दुनिया पूरी तरह बदल गई है। पहले अमेजन ढूंढ़ने पर नदी और जंगल मिलते थे।

विश्व आर्थिक मंच की बैठक को हिंदी में सम्बोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि तकनीक ने दुनिया को बदल दिया है। आज तकनीक सुविधा के साथ चुनौती भी है। आज जिसने डेटा पर काबू पा लिया उसने दुनिया पर अपना दबदबा बना लिया। आज डेटा का पहाड़ बनता जा रहा है उसे संभालना भी एक बड़ी चुनौती है।

मोदी ने कहा कि गरीबी, बेरोजगारी और अलगाव की दरारों को दूर करना हमारा काम है। दरारों से भरी दुनिया में सांझा भविष्य का निर्माण फोरम का मकसद है।

दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

दिल्ली से वायु मार्ग से 6,166 किलोमीटर दूर स्थित दावोस शहर में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत का भरोसा जोड़ने में है न कि तोड़ने में है। उन्होंने कहा दुनिया के सामने तीन बड़ी चुनौतियां है।

पहली चुनौती जलवायु परिवर्तन है। आज मौसम का मिजाज बिगड़ रहा है, प्रकृति को बचाना भारत की संस्कृति का हिस्सा है। आतंकवाद दुनिया के लिए दूसरी बड़ी चुनौती है। अच्छा आतंकवाद व बुरा आतंकवाद की सोच एक खतरनाक सोच है। हर देश सिर्फ अपने बारे में सोच रहा है यह दुनिया की तीसरी बड़ी चुनौती है।

फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top