दावोस में विश्व आर्थिक मंच के बारे में 11 बड़ी बातें 

दावोस में विश्व आर्थिक मंच के बारे में 11 बड़ी बातें दावोस में विश्व आर्थिक मंच

लजीज देसी व्यंजनों और योग सत्र की झलक के साथ दावोस में विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) की वार्षिक बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत को वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिए वृद्धि इंजन के रूप में पेश कर सकते हैं। दावोस में विश्व आर्थिक मंच के बारे में 11 बड़ी बातें।

  1. स्विटजरलैंड के दावोस में 'विश्व आर्थिक मंच' की बैठक हो रही है।
  2. देवास, स्विटजरलैंड का एक खूबसूरत शहर है। यहां की आबादी सिर्फ 11,000 है।
  3. 'विश्व आर्थिक मंच' को वर्ष 1987 में इसका नाम मिला। तब से अब तक, प्रतिवर्ष जनवरी में दावोस में इसकी बैठक होती है।
  4. जर्मन अर्थशास्त्री क्लॉस एम श्वाब और उनकी पत्नी हिल्ड ने श्वैब फॉउण्डेशन फॉर सोशल इंटरप्रेनरशिप के रूप में इसकी स्थापना की थी।
  5. पांच दिन तक चलने वाली विश्व आर्थिक मंच की यह 48वीं बैठक है।
  6. विश्व आर्थिक मंच के चेयरमैन क्लाउस श्वाब हैं।
  7. सम्मेलन के थीम 'क्रिएटिंग ए शेयरड फ्यूचर इन ए फ्रैक्चर्ड वर्ल्ड' है।
  8. विश्व आर्थिक मंच में लजीज भारतीय देसी व्यंजनों जोर रहेगा।
  9. विश्व आर्थिक मंच की बैठक में योग सत्र का आयोजन होगा, जिसे सभी देसी-विदेशी लोग हिस्सा लेंगे।
  10. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दावोस में मुख्य कार्यक्रम (23 जनवरी) को पूर्ण सत्र में भाषण देंगे। वर्ष 1997 में एच डी देवेगौड़ा दावोस गए थे।
  11. वैश्विक नेताओं में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप समापन भाषण करेंगे।

ये भी पढ़ें- देश की यह तस्वीर खतरनाक है, वर्ष 2017 में कमाई 73 फीसद सम्पति पर एक फीसद अमीरों का कब्जा

ये भी पढ़ें- आलू का रेट : 2014 में 7-8 रुपए, 2015-16 में 5-6, जबकि पिछले साल 2-3 रुपए किलो था

ये भी पढ़ें- दो ताकतवर महिलाओं ने भारत को दिया एक जादुई मंत्र, महिला-पुरुष भागीदारी बराबर करने से दौड़ेगी जीडीपी 

ये भी पढ़ें- विश्व आर्थिक मंच में भारत की नई तस्वीर पेश करने को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गए दावोस 

दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top