140 साल के कछुए से लेकर सबसे पारदर्शी झील तक, इन तस्वीरों से कीजिए दुनिया की ख़ूबसूरती की सैर 

140 साल के कछुए से लेकर सबसे पारदर्शी झील तक, इन तस्वीरों से कीजिए दुनिया की ख़ूबसूरती की सैर फ्लैटहेड झील

लखनऊ। दुनिया में यूं तो हर चीज़ खुद में अलग और अद्भुत है लेकिन कुछ चीज़ों में वो आकर्षण है जो बरबस ही आपका ध्यान अपनी ओर खींच लेती हैं। आज इन तस्वीरों के ज़रिए हम आपको दुनिया की कुछ ऐसी ही ख़ूबसूरती की सैर कराएंगे जिसे देखकर यक़ीनन ही आपके मुंह से एक बार 'वाह' ज़रूर निकलेगा।

लुका छिपी बहुत हुई।

सितंबर 2011 में हंगरी के सोस्टो चिड़ियाघर में अफ्रीकन स्पर्ड कछुए ने आठ बच्चों को जन्म दिया था। फोटोग्राफर एटिला बेलेज्स ने 4 दिनों के बेबी कछुए को उसकी 140 साल की मम्मी के सिर पर बिठाकर एक अद्भुत फोटो कैमरे में क़ैद कर लिया। अफ्रीकन स्पर्ड कछुए गैलापागोस कछुए और अलडब्रा जेंट कछुओं के बाद दुनिया में तीसरी सबसे ज़्यादा पाई जाने वाली कछुओं की प्रजाति है। बड़ी ही ख़ूबसूरती से बनाया गया घुमवादार रास्ता, किनारे पर लगे पेड़ आपको इस पुल से प्यार करने से रोक ही नहीं सकते।

जैसे कि परियों का शहर हो

दक्षिणी इगियन समुद्र के किनारे बसा सैंटोरिनी, ग्रीस का एक अद्भुत शहर है। सैंटोरिनी का कमर्शियल डेवलपमें द्वीप के पश्चिम में कैल्डेरा-एज क्लैफ़फॉप्प्स पर केंद्रित है, यहां सफेद रंग से पुते घरों और इमारतों का एक समूह सा नज़र आता है जो बेहद आकर्षक लगता है। इस तस्वीर में सैंटोरिनी की वह सुंदरता दिख रही है जो बेशक ही आपको खींच रही है वहां जाकर इस ख़ूबसूरती को एक बार सामने से देखने के लिए।

क्या इसी घोड़े पर बैठ कर आएगा सपनों का राजकुमार

ऑर्लेव ट्रॉटर रूसी मूल की आनुवांशिक रूप से शक्तिशाली और तेज़ घोड़े की एक प्रजाति है। 1 9वीं शताब्दी के दौरान, ओर्लोव ट्रॉटर रूस में उच्च पदों पर आसीन लोग इसे रेस में इस्तेमाल करते थे लेकिन अब बाकी घोड़ों की तरह इसका इस्तेमाल भी बोझा ढोने में ही होने लगा है।

पानी रे पानी तेरा रंग कैसा

उत्तर पश्चिमी मोंटाना में स्थित फ्लैटहेड लेक दुनिया की सबसे पारदर्शी झीलों में से एक है। इस झील का पानी इतना साफ है कि झील की लगभग 370 फीट नीचे की सतह एक दम साफ दिखाई देती है।

आपके सपनों की मंज़िल तक तो नहीं जा रही ये सड़क

इटली के बोल्घेरी की सड़कें बहुत खूबसूरत होती हैं और इन सड़कों को और भी हसीं बना देती है यहां की ढलती शाम। ऐसी ही खूबसूरत सड़क पर ढलती खुशनुमा शाम को फोटोग्राफर टिज़ियानो पीरोनी ने अपने कैमरे की नज़र ने दुनिया को दिखाया।

पेड़ों से घिर पुल

इकोलॉजिकल मास्टपीस के नाम से जाना जाने वाला वैंकुवर लैंड ब्रिज वाकई में अद्भुत है। यह पुल कोलंबिया नदी को वैंकुवर क़िले से बिल्कुल प्राकृतिक तरीके सो जोड़ता है। जोन्स एंड जोन्स वास्तुकला और सिएटल की एक लैंडस्केप आर्किटेक्चर टीम इस पुल इस तरह बनाने का प्रस्ताव दिया था।

ये कोई पेंटिंग नहीं, लैवेंडर का खेत है

दुनिया में सबसे ज़्यादा लैवेंडर फ्रांस के प्रोवेंस में पैदा होता है। गर्मियों के मध्य में यानि जून महीने में लैवेंडर खिलता है और और जुलाई से मध्य अगस्त तक इसकी फसल तैयार हो जाती है। अगर आपको भी हल्के बैंगनी रंग से भरी दूर तक लहलहाती लैवेंडर की फसल को देखना है तो आप भी इन गर्मियों में फ्रांस की सैर पर निकल सकते हैं।

सभी फोटो - अर्थ पिक्चर्स के ट्विटर हैंडल से ली गई हैं।


Share it
Top