दुनिया

पीएसी को ढाई वर्ष बाद याद आया पीएम का स्वच्छता अभियान

विशाल मिश्रा

लखनऊ। देश में मोदी सरकार अपने ढाई वर्ष पूरे कर चुकी है और सरकार बनने के बाद ही प्रधानमंत्री ने स्वच्छता अभियान की शुरूआत भी की थी जिसके बाद देश भर में बहुत से सरकारी व गैर सरकारी संगठनों के लोगो ने यह अभियान आगे बढाया था और विभागों के मुखिया तक सड़क पर उतरे स्वच्छता अभियान में श्रमदान करते नजर आये पर तब पुलिस प्रशासन को इस अभयान में श्रम दान करने का ध्यान नही आया लेकिन जैसे ही सूबे की सत्ता बदली तो पुलिस को भी पीएम का यह ड्रीम प्रोजेक्ट नजर आ गया।

सूबे के नये सीएम ने आज जब सरकारी दफ्तरों में पान मसाला व गुटखा के प्रयोग पर सख्ती से रोक लगाने का फरमान जारी किया तो उसके बाद 35 वीं वाहिनी पीएसी के अफसरो को भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अभियान याद आ गया और आनन फानन में सेनानायक डा. राकेश सिंह ने कर्मचारियों को स्वच्छता अभियान में श्रम दान करने के निर्देश दे दिए। डा. सिंह के निर्देशन में बुधवार दोपहर को वाहिनी के अधिकारियों सहित समस्त कम्पनियों में तैनात कर्मचारियों द्वारा श्रमदान कर परिसर के आवासीय एवं अनावसीय भवनों के आसपास एंव नालियों की सफज्ञई करायी गयी। स्वच्छता अभियान के सम्बंध में वाहिनी की आरटीसी में प्रक्षिणरत प्रशिक्षुओं को विस्तार पूर्वक वाहिनी के सेनानायक के माध्यम से जानकारी प्रदान की गयी। उक्त अभियान में वाहिनी के कर्मचारी के उत्साहवर्धन हेतु सेनानायक डा. राकेश सिंह के साथ उप सेनानायक सूर्यकांत त्रिपाठी, सहायक सेनानायक मोहन चन्द्र पाण्डेय, सैन्य सहायक जगमोहन सिंह बुटोला, शिविपाल आशुतोष सिंह, एवं सूबेदार मेजर मंगल प्रसाद भी मौजूद थे।