दुनिया

बोर्ड परीक्षा में परीक्षार्थियों की संख्या घटी

इटावा/उन्नाव। यूपी बोर्ड की परीक्षाओं की सरगर्मी तेज हो गई है। जनपद में इस वर्ष बीते वर्ष की तुलना में 4742 परीक्षार्थी परीक्षा नहीं देंगे। बीते वर्ष 51,816 छात्रों ने परीक्षा दी थी और इस वर्ष 47,074 छात्र परीक्षा देंगे। जिला प्रशासन सहित जिला विद्यालय निरीक्षक परीक्षा को शांतिपूर्ण और नकलविहीन कराने के लिए फिर वही पुराने दावे कर रहे हैं।

शिक्षा से सम्बंधित खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

इस वर्ष हाईस्कूल में कुल 26,398 परीक्षार्थियों में 14,564 बालक व 11,834 बालिकाएं वहीं इण्टरमीडिएट में कुल 20676 परीक्षार्थियों में 10829 बालक व 9847 बालिकाएं परीक्षा देंगी। जबकि बीते वर्ष कुल 51,816 परीक्षार्थियों में हाईस्कूल के 28,756 परीक्षार्थियों में 15,873 बालक व 12,883 बालिकाएं तथा इण्टरमीडियट में कुल 23,060 परीक्षार्थियों में 12,221 बालक व 10,839 बालिकाओं ने परीक्षा दी थी। यानी इस वर्ष हाईस्कूल में 2358 परीक्षार्थी कम हुए, जिसमें 1309 बालक व 1049 बालिकाएं और इण्टरमीडिएट में 2384 परीक्षार्थी कम हुए, जिसमें 1392 बालक व 992 बालिकाएं हैं।

परीक्षा को नकलविहीन सम्पन्न कराने के लिए प्रयास जारी हैं। जनपद में 275 विद्यालयों में 21 राजकीय विद्यालय, 56 सहायता प्राप्त विद्यालय तथा 200 वित्तविहीन विद्यालयों में 101 परीक्षा केन्द्र बनाये गये हैं। जिसमें सात राजकीय परीक्षा केन्द्र, 41 सहायता प्राप्त तथा 53 वित्तविहीन परीक्षा केन्द्र बनाये गये हैं।

जनपद में बोर्ड परीक्षाओं को शांतिपूर्वक नकलविहीन कराने के लिए पूरी तैयारी कर ली गयी है। अति संवेदनशील व संवेदनशील परीक्षा केन्द्रों को चिन्हित कर लिया गया है।
देवेन्द्र प्रकाश , जिला विद्यालय निरीक्षक

पुलिस प्रशासन से प्रत्येक परीक्षा केन्द्र पर सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद करने के किये पुलिस फोर्स मांगी गयी है। साथ ही जिलाधिकारी ने और उप जिलाधिकारियों सहित अन्य अधिकारियों को सेक्टर मजिस्ट्रेट की जिम्मेदारी सौंपते हुए निर्देश दिये गए हैं कि, परीक्षा के दौरान सभी अधिकारी जनपद के प्रत्येक परीक्षा केन्द्रों का निरीक्षण करेंगे।

डेढ़ सौ केन्द्रों पर होगी 71837 छात्रों की परीक्षा

माध्यमिक शिक्षा परिषद की हाईस्कूल एवं इण्टमीडिएट वर्ष 2017 की परीक्षा 16 मार्च से प्रारम्भ होगी। इसके लिए कमिश्नर स्तर से एक परीक्षा केन्द्र में और वृद्धि कर दी गयी है। अब जनपद के 71,837 परीक्षार्थियों के लिए 153 परीक्षा केन्द्र बना दिए गये हैं। जिसमें हाईस्कूल के 41,041 छात्रों में 20,625 बालक व 19,988 बालिकाएं संस्थागत तथा 217 बालक व 211 बालिकाएं व्यक्तिगत परीक्षार्थी के रूप में पंजीकृत हैं। इण्टरमीडिएट में 30,796 परीक्षार्थियों में 14,139 बालक तथा 15,487 बालिकाएं संस्थागत तथा 546 बालक व 624 बालिकाएं व्यक्तिगत परीक्षार्थी के रूप में परीक्षा में सम्मिलित होंगी।

उत्तर पुस्तिकाएं व प्रश्नपत्र उपलब्ध

उत्तर पुस्तिकाओं व प्रश्नपत्रों का वितरण बुधवार से राजकीय इण्टर कालेज से होगा। जिला विद्यालय निरीक्षक राकेश कुमार ने कहा कि 16 मार्च से प्रारम्भ होने वाली परीक्षा के लिए हाईस्कूल एवं इण्टर मीडिएट की उत्तर-पुस्तिकाओं का वितरण पहली व दूसरी मार्च को होगा। तीन व चार मार्च को बांगरमऊ व हसनगंज तहसील के परीक्षा केन्द्रों के प्रधनाचार्य 3 व 4 मार्च को कापियां ले जा सकते हैं।

किस तरह बनाया गया परीक्षा केन्द्र

डीएम की अध्यक्षता में परीक्षा समिति की बैठक में 152 परीक्षा केन्द्र प्रस्तावित किए गये थे, जिसमें आपत्तियां मांगी गयी थीं तो सात विद्यालयों ने आपत्तियां दर्ज कराई थीं। विद्यालय सभी शर्तें पूरी करता था पहले भी कई वर्षों तक परीक्षा केन्द्र रह चुका था इस पर गंगा सिंह परमहंस इण्टर कालेज मांखी को परीक्षा केन्द्र बनाया गया है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।