दक्षिण कोरिया की पूर्व राष्ट्रपति पार्क ग्युन हे भ्रष्टाचार मामले में गिरफ्तार, जा सकती हैं जेल 

दक्षिण कोरिया की पूर्व राष्ट्रपति पार्क ग्युन हे भ्रष्टाचार मामले में गिरफ्तार, जा सकती हैं जेल दक्षिण कोरिया की राष्ट्रपति पार्क ग्युन हे

सियोल (आईएएनएस)। दक्षिण कोरिया की पूर्व राष्ट्रपति पार्क ग्युन हे को शुक्रवार सुबह गिरफ्तार कर लिया गया। उन्हें भ्रष्टाचार के आरोपों के तहत जेल हो सकती है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, सियोल सेंट्रल डिस्ट्रिक्ट कोर्ट के न्यायाधीश ने बयान में कहा कि पार्क के खिलाफ लगे प्रमुख आपराधिक आरोपों को न्यायोचित ठहराया जा सकता है और उनके द्वारा साक्ष्यों को नष्ट करने की संभावना बनी हुई है।

दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

अदालत ने पूर्व राष्ट्रपति पार्क ग्युन हे के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी कर दिया। पिछले सप्ताह अभियोजकों ने पार्क की गिरफ्तारी के लिए वारंट जारी करने की अपील की थी।

गौरतलब है कि गुरुवार को पार्क मामले में नौ घंटे तक सुनवाई चली जो देश के इतिहास में सबसे लंबे समय तक चलने वाली सुनवाई रही।

दक्षिण कोरिया की पूर्व राष्ट्रपति पार्क ग्युन हे ने अदालत के फैसले के लिए रातभर इंतजार किया। इस दौरान वह सियोल अदालत के पासवाली सियोल सेंट्रल डिस्ट्रिक्ट अभियोजकों के कार्यालय में इंतजार करती रहीं।

टीवी फुटेज के मुताबिक, पार्क (65 वर्ष) को दो महिला जांचकर्ताओं के साथ काले रंग की सेडान कार में जाते देखा गया। उन्हें अभियोजन कार्यालय से लगभग 15 किलोमीटर दूर सियोल से बाहर हिरासत केंद्र ले जाया गया? पार्क के समर्थकों ने केंद्र को घेर लिया, उन्हें शायद पार्क की गिरफ्तारी का अंदेशा हो गया था।

पार्क 2013 में देश की पहली महिला राष्ट्रपति चुनी गई थीं लेकिन वह अपने पांच साल के कार्यकाल को पूरा नहीं कर पाई।

संवैधानिक अदालत ने 10 मार्च को एक ऐतिहासिक फैसले में पार्क को पद से बर्खास्त कर दिया था। इस तरह वह महाभियोग के जरिए बर्खास्त होने वाली पहली राष्ट्रपति रहीं।

स्थानीय रिपोर्टों के मुताबिक, पार्क की शारीरिक जांच के बाद उन्हें हिरासत केंद्र की अलग सेल में रखा जाएगा। इस हिरासत केंद्र में पार्क की सहयोगी एवं विश्वासपात्र चोई सुन-सिल भी हैं। पार्क को इस सेटंर में लगभग 20 दिनों तक रखा जाएगा।

पार्क के साथ उसकी सहयोगी एवं मित्र चोई सुन-सिल पर भी आरोप लगे हैं। फिलहाल, चोई हिरासत में हैं। इन पर सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स के उपाध्यक्ष ली जे योंग से करोड़ों डॉलर का रिश्वत लेने का आरोप भी है। ली को भी गिरफ्तार किया जा चुका है।

ली ने सैमसंग के अध्यक्ष एवं अपने पिता ली कुन ही से कंपनी का प्रबंधन उपाध्यक्ष ली को देने में सहयोग करने के एवज में रिश्वत दी थी।

Share it
Share it
Share it
Top