ट्रंप के देश की ये ख़बर भी पढ़िए- 7 % अमेरिकी मानते हैं कि चॉकलेट मिल्क भूरी गाय से मिलता है ...

ट्रंप के देश की ये ख़बर भी पढ़िए- 7 % अमेरिकी मानते हैं कि चॉकलेट मिल्क भूरी गाय से मिलता है ...सात फीसदी अमेरिकी इस मिथक को सच मानते हैं (फोटो साभार: इंटरनेट)

लखनऊ। दुनिया में सबसे विकसित और ताकतवर देशों में शामिल अमेरिका के नागरिकों के खेती के बारे में उनके अल्प ज्ञान पर दुनिया में हंसी उड़ाई जा रही है।

हाल ही में इनोवेशन सेंटर ऑफ यूएस डायरी के ऑनलाइन सर्वे में यह बात सामने आई है कि सात फीसदी अमेरिकन व्यस्क ऐसा सोचते हैं कि चॉकलेट मिल्क भूरी गाय से प्राप्त किया जाता है। यह रिपोर्ट वॉशिंगटन पोस्ट में प्रकाशित हुई है।

अगर आंकड़ों में बात करें तो करीब 16.4 मिलियन (1.6 करोड़) दूध का सेवन करने वाले इस मजाक को सच मानते हैं। यह संख्या अमेरिका के एक राज्य पेंसिल्वेनिया की जनसंख्या के बराबर है जिसे यह नहीं पता कि चॉकलेट मिल्क- दूध, कोकोआ और शुगर का मिश्रण होता है।

ये भी पढ़ें: रोज बदलेंगी पेट्रोल-डीजल की कीमतें, जानें 12 जरूरी बातें

दशकों से यह धारणा है कि ज्यादातर अमेरिकियों को कृषि संबंधी जानकारी नहीं होती। उन्हें नहीं पता होता कि अनाज कैसे पैदा होता है, उसे कैसे स्टोर किया जाता है और इसी तरह चॉकलेट मिल्क के केस में उन्हें ये नहीं पता होता कि इसमें क्या चीजें शामिल होती हैं।

कृषि शिक्षा का एक विभाग जिसे 90 के दशक में कमीशन किया गया था, ने पाया कि पांच में से एक व्यस्क को नहीं पता होता कि हैमबर्गर बीफ से बना होता है। कई लोग खेती के तथ्यों से भी वाकिफ नहीं होते, जैसे यूएस के खेत कैसे होते हैं और कौन सा पशु क्या भोजन करता है वगैरह।

कृषि शिक्षा के एक्सपर्ट्स इतने वर्षों के बीच जो बदलाव हुए हैं उससे सहमत नहीं हो पा रहे हैं। स्कूलों में कृषि और पोषण शिक्षा देने वाली नॉनप्रॉफिट संस्था फूडकॉर्प के को-फाउंडर सेसिली अप्टन कहती हैं, इस वक्त, हम सशर्त यह सोचते हैं कि अगर आपको भोजन की जरूरत है तो आप स्टोर जाएंगे। हमारे पूरे शैक्षिक व्यवस्था में बच्चों को यह सिखाया ही नहीं जाता कि स्टोर में आने से पहले भोजन कहां और कैसे उगता है।

ये भी पढ़ें: दूध दुहने की ये मशीन सफाई का रखेगी विशेष ध्यान

हालांकि अप्टन और दूसरे शिक्षकों का मानना है कि सर्वे से जो निष्कर्ष प्राप्त हुए हैं वे सभी पर लागू नहीं होते। स्टडी में पहले यह साफ हो चुका है कि एग्रीकल्चर समुदाय से ताल्लुक रखने वाले लोग इस बारे में थोड़ा बहुत जानकारी रखते हैं कि भोजन कहां से आता है, उन लोगों की तुलना में जो उच्च शिक्षा स्तर और उच्च आय वाले घरों से आते हैं।

कुछ जनसंख्या में लोगों में बेसिक फूड फैक्ट को लेकर कंफ्यूजन है। जब रिसर्चर की एक टीम अर्बन कैलिफोर्निया स्कूल के चौथे, पांचवे और छठे ग्रेडर को इंटरव्यू करती है तो वे पाते हैं कि आधे से ज्यादा लोगों को नहीं पता कि सलाद पेड़ों से पैदा होता है। 10 में से चार लोगों को नहीं पता था कि हैमबर्गर में गाय का मांस इस्तेमाल होता है और 10 में से तीन को यह नहीं पता था कि चीज़ दूध से बनती है।

ये भी पढ़ें: किसान ऐसी तकनीकी का कर रहे इस्तेमाल कि बांझ गाय-भैंस भी दे रहीं दूध

यानी की ज्यादातर लोगों को कच्चे पदार्थ के बारे में पता था और यह भी पता था कि ये पदार्थ खेतों या गार्डन में उगाए जाते हैं।

अमेरिका में लोगों में कृषि संबंधी जानकारी कम

अप्टन अपनी किताब किचन लिटरेसी में लिखती हैं, ज्यादातर अमेरिकियों ने 1800 के मध्य में शहरों की तरफ पलायन कर लिया। इस वजह से फूड प्रोडक्शन और प्रॉसेसिंग में बहुत कम लोग शामिल रह गए और समय के साथ सफाई और ब्रांड लॉयलिटी की मॉडर्न अप्रॉच बन गई- और इस तरह ज्यादातर अमेरिकी इस बात से अनभिज्ञ रहे कि डिब्बाबंद सीरियल और हॉट डॉग का ओरिजन क्या है।

Share it
Share it
Share it
Top