बांग्लादेश में आतंकवादियों के ठिकाने के बाहर हुए विस्फोट में छह व्यक्तियों की मौत, 40 घायल

बांग्लादेश में आतंकवादियों के ठिकाने के बाहर हुए विस्फोट में छह व्यक्तियों की मौत, 40 घायलबांग्लादेश में आतंकी हमला

ढाका (भाषा)। बांग्लादेश के सिलहट शहर में इस्लामी आतंकवादियों के कब्जे वाली एक इमारत के बाहर हुए दो तीव्र विस्फोटों में छह लोगों की मौत हो गई और एक शीर्ष खुफिया अधिकारी सहित 40 व्यक्ति घायल हो गए हैं।

पहला विस्फोट कल शाम करीब सात बजे उस पांच मंजिला इमारत से 400 मीटर की दूरी पर हुआ, जहां आतंकवादी छुपे हुए थे। इस विस्फोट में भीड़ को निशाना बनाया गया था। आतंकवादियों को खदेड़ने के लिए अभियान चलाया गया और वहां पुलिसबल भी तैनात किया गया।

दूसरा विस्फोट पहले विस्फोट के एक घंटे के बाद इमारत के सामने हुआ। इस हमले में दो पुलिस अधिकारियों सहित छह लोगों की मौत हो गई। मृतकों में दो पुलिस इंस्पेक्टर सहित चार आम नागरिक शामिल हैं, जिनमें से दो कॉलेज छात्र थे। इस हमले की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट ने अपनी समाचार एजेंसी ‘अमाक’ के माध्यम से ली है। इसमें कहा गया है कि यह हमला सुरक्षाबलों को निशाने पर रखकर किया गया था। पिछले आठ दिनों में यह तीसरा हमला है, जिसकी जिम्मेदारी आईएसआईएस ने ली है।

रेपिड एक्शन बटालियन (आरएबी) के खुफिया विंग के प्रमुख लेफ्टिनेंट कर्नल अबुल कलाम इस हमले में गंभीर रुप से घायल हो गए हैं और उन्हें इलाज के लिए ढाका भेज दिया गया है। एक घायल के हवाले से बीडीन्यूज24 डॉट कॉम ने बताया कि दूसरा विस्फोट तब हुआ जब आरएबी और पुलिस कर्मी पहले विस्फोट के बाद जांच के तहत घटनास्थल पर पहुंचे।

पुलिस अधिकारी ने संवाददाताओं को बताया, ‘‘इमारत के आसपास आम नागरिकों के आने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है और इमारत से आतंकवादियों को बाहर निकालने की अंतिम तैयारी चल रही है।” सिल्हट स्थित 17 इंफेंटरी डिविजन के मेजर जनरल अनवारुल मोमीन इस अभियान का नेतृत्व कर रहे हैं, जिन्हें पुलिस की एसडब्ल्यूएटी ईम और आतंकवादी निरोधी इकाई सहायता दे रही हैं। आरएबी भी अभियान में शामिल है। शुक्रवार को ढाका के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर हुए आत्मघाती हमले के बाद ट्वाइलाइट अभियान शुरु किया गया है।

Share it
Top