ईरान की संसद व क्रांतिकारी संस्थापक रुहुल्लाह खोमैनी के मकबरे पर हमला, कई लोग घायल

ईरान की संसद व  क्रांतिकारी संस्थापक रुहुल्लाह खोमैनी के मकबरे पर हमला,  कई लोग घायलईरान का संसदीय इमारत।

तेहरान (एएफपी)। तेहरान में संसदीय इमारत और ईरान के क्रांतिकारी संस्थापक रुहुल्लाह खोमैनी के मकबरे के भीतर आज सशस्त्र व्यक्ति घुस गए। हमले में कई लोगों के घायल होने की खबर है। सरकारी मीडिया की खबरों के मुताबिक हमलों में कम से कम एक फिदायीन हमला था।

एक सांसद ने सरकारी प्रसारणकर्ता आईआरआईबी को बताया कि मध्य तेहरान स्थित संसदीय परिसर में चार बंदूकधारी घुस आए, जिनके हाथों में राइफल और पिस्तौल थी। समाचार एजेंसी आईएसएनए और फार्स ने कहा कि बंदूकधारी उत्तर में स्थित प्रवेश द्वार से भीतर आए, उन्होंने तीन लोगों को गोली मारी जिनमें कम से कम एक सुरक्षा गार्ड शामिल है। कई समाचार एजेंसियों के मुताबिक मकबरे पर किया गया हमला पूरी तरह सुनियोजित था।

मकबरे के जनसंपर्क विभाग के प्रमुख अली खलीली ने समाचार एजेंसी आईआरएनए को बताया कि सशस्त्र व्यक्ति मकबरे के पश्चिमी प्रवेश द्वार से भीतर आया और विस्फोट कर खुद को उडाने से पहले उसने गोलीबारी की। मकबरा संसदीय परिसर से लगभग 20 किमी दूर दक्षिण तेहरान में स्थित है। आईएलएनए समाचार एजेंसी ने बताया कि पांच लोग घायल हुए हैं और सुरक्षा बल मकबरे के भीतर बम को निष्क्रिय कर रहे हैं।

दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

संसदीय परिसर से विरोधाभासी खबरें आ रही हैं. कुछ खबरों में बताया गया है कि स्थिति नियंत्रण में है जबकि कुछ अन्य खबरों में कहा गया है कि गोलीबारी जारी है और इमारत की घेराबंदी कर दी गई है। आईएसएनए की खबर के मुताबिक हमलावरों को घेर लिया गया है लेकिन अभी उन्हें गिरफ्तार नहीं किया गया।

शिया बहुल ईरान आतंकी समूह इस्लामिक स्टेट समेत सुन्नी जिहादियों के निशाने पर रहता है. हालांकि अब तक यहां के शहरी क्षेत्र ज्यादातर हमलों से बचे रहे हैं। सीरिया और इराक में आईएस तथा अन्य उग्रवादी समूहों के खिलाफ ईरान महत्वपूर्ण मैदानी बल मुहैया करवाता है।

Share it
Top