तुर्की में सेना की तख्तापलट की कोशिश, 190 से ज्यादा मरे

तुर्की में सेना की तख्तापलट की कोशिश, 190 से ज्यादा मरे

गाँव कनेक्शन नेटवर्क। तुर्की में सेना ने तख्तापलट की नाक़ाम कोशिश की है। तख्‍तापलट की सैन्य कोशिशों के बीच सेना ने इस्तांबुल में भीड़ पर गोलियां दागीं हैं, जिसमें सैकड़ों लोगों के गंभीर रूप से घायल होने की ख़बर है। समाचार एजेंसी एएफपी के मुताबिक़ तख्तापलट में इस्तेमाल किए जा रहे एक हेलीकॉप्टर को सेना के एफ-16 विमान ने मार गिराया है। वहीं समाचार एजेंसी एपी की रिपोर्ट कहती है कि अंकारा के बाहरी इलाके में विशेष पुलिस बल के मुख्यालय पर हेलीकॉप्टर से हमले में 17 पुलिस अधिकारी मारे गए। हालांकि तुर्की पुलिस ने सेना की तरफ से सरकार के तख्तापलट की कोशिश को नाकाम कर दिया है। प्रधानमंत्री बिनअली यिलदीरिम का कहना है, ''हालात काफी हद तक नियंत्रण में आ चुके हैं। तुर्की के राष्ट्रपति रिसेप तईप एर्दोगन सुरक्षित इस्तांबुल पहुंच गए हैं। यहां पहुंचकर उन्होंने कहा कि कोई भी ताकत देश की मर्जी के आगे नहीं टिकती है।''

सेना ने किया था तख्तापलट का दावा

शुक्रवार को सेना ने दावा किया कि उसने देश की सत्ता पर कब्जा कर लिया है। सेना ने कहा कि उसने देश में लोकतांत्रिक व्यवस्था को बनाए रखने और मानवाधिकार सुरक्षित रखने के लिए सत्ता अपने हाथ में ले ली है। पीएम बिनअली यिलदरिम ने मीडिया को बताया, ''हां ये सही है कि तख्तापलट की कोशिश की गई।'' यिलदिरिम ने इससे जुड़ी कोई विस्तृत जानकारी तो नहीं दी, लेकिन इतना जरूर कहा कि ''तुर्की लोकतंत्र में रोड़ा डालने वाले ऐसे किसी कदम की इजाजत नहीं देगा, तख्तापलट की साजिश रचने वालों को भारी कीमत चुकानी पड़ेगी। जनता द्वारा चुनी गई सरकार अब भी सत्ता में है। ये सरकार तभी हटेगी, जब लोग उसे कहेंगे।''

तख्तापलट की इस कोशिश के बीच रॉयटर्स ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि राष्ट्रपति एर्दोगान खतरे से बाहर हैं। तुर्की के राष्ट्रपति कार्यालय ने एर्दोगान के ठिकाने का खुलासा नहीं किया, बस इतना बताया कि वो महफूज़ जगह पर हैं। इस बीच राष्ट्रपति एर्दोगान ने नागरिकों से सरकार के समर्थन में सड़कों पर उतरने को कहा है।

राष्ट्रपति के आह्वान के बाद भारी संख्या में आम नागरिक सड़कों पर उतरे। जगह जगह आम लोगों और सेना में झड़प भी हुई है।

बुल्गारिया के विदेश मंत्रालय ने शनिवार को एक बयान जारी कर कहा कि ''तुर्की ने अपनी सीमा क्रॉसिंग को बंद कर दिया है। इसके अलावा विदेश मंत्रालय ने अपने नागरिकों से दक्षिणी पड़ोसी देश में यात्रा नहीं करने की भी अपील की।''

मैक्सिको के विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कहा कि ''तुर्की की यात्रा की योजना बना रहे मैक्सिकन नागरिकों से वहां नहीं जाने की सलाह दी जाती है। जब तक स्थिति स्पष्ट नहीं हो जाती, तब तक लोगों की सुरक्षा को देखते हुए तुर्की नहीं जाने की सलाह है।''

Tags:    India 
Share it
Top