दूर-दराज के गाँवों को सोलर पॉवर से करेंगे रोशन: अखिलेश यादव

दूर-दराज के गाँवों को सोलर पॉवर से करेंगे रोशन: अखिलेश यादवगाँव कनेक्शन

लखनऊ।  एक्सप्रेस-वे जब बनने की बात हुई थी, तो बैंक लोन नहीं दे रहे थे, जिसके बाद हमने खुद ही रिस्क लिया और अपने संसाधनों से एक्सप्रेस-वे बनाने का फैसला किया। यह बातें मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने एसौचैम द्वारा आयोजित कार्यक्रम 'यूपी एट डबल डिजिट ग्रोथ' कार्यक्रम में कही।

शुक्रवार 15 जनवरी को लखनऊ में एसोसिएट चैम्बर्स ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्री ऑफ इंडिया(एसौचैम) द्वारा आयोजित कार्यक्रम को मुख्यमंत्री ने संबोधित किया कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने कहा, "देश में कही भी इस तरह का एक्सप्रेस वे नहीं होगा। एक्सप्रेस-वे के किनारे पर किसानो के लिए कृषि मंडिया बनाएंगे। इससे किसानो को फायदा होगा। सबसे ज्यादा दूध उत्पादन यूपी में होता है। इसे और बेहतर बनाने के लिए हम कामधेनु योजना चला रहे है।" उन्होंने ने आगे कहा कि मेट्रो तो एक उदहारण है एक शहर के लिए। सपा सरकार यूपी के पीएम के संसदीय क्षेत्र के साथ कई शहरों में मेट्रो बनाएगी।

मुख्यमंत्री ने पूर्व राष्ट्रपति स्व. डाॅ. एपीजे अब्दुल कलाम का जिक्र करते हुए कहा कि राज्य सरकार उनके सुझाव पर ही कन्नौज जनपद की तिर्वा तहसील के फकीरपुरा तथा चंदुआहार गाँवों को सौर ऊर्जा के माध्यम से आॅफ ग्रिड ऊर्जीकृत करने का काम किया गया। राज्य सरकार सोलर पावर प्लाण्ट के माध्यम से प्रदेश के दूर-दराज गांवों को रौशन करने का काम तेजी से आगे बढ़ा रही है। 

कार्यक्रम में बतौर मुख्‍य अतिथि पहुंचे सीएम ने कहा कि हमारी सरकार बेहद लिबरल है। आप किसी भी अधिकारी से मिल सकते हैं। यूपी के बारे में बोला जाता है की विकास नहीं है, लेकिन बाबा रामदेव ने यंहा करोड़ो का व्यवसाय किया है। वही स्किल डेवलपमेंट में ऑनलाइन 45 लाख लोगो ने अप्लाई किया है। जिस बल्‍ले से क्रिकेट में इतना रन बना वो बल्‍ला भी यूपी का बना हुआ है। उन्होंने आगे कहा कि अगर यूपी की तरक्की के लिए केंद्र से सहयोग लेना होगा तो वो भी लेंगे क्योंकि पीएम भी तो यूपी से आते है। इसके अलावा सपा सरकार 45 लाख परिवारो को ऑनलाइन समाजवादी पेंशन दे रहे हैं। यूपी काम करना चाहता है और विकास के रास्ते पर आगे बढ़ना चाहता है।

कार्यक्रम में मुख्‍य सचिव आलोक रंजन ने कहा, "यूपी में विकास को गति देने के लिए सरकार हर कदम उठा रही है। जिसको लेकर शुक्रवार की सुबह ही आगरा और बनारस में मेट्रो काे लेकर बैठक हुई है। इसके अलावा इलाहाबाद और मेरट में भी मेट्रो की बात कर रहे है।" उन्होंने आगे कहा, "एक्‍सप्रेस वे को गाजीपुर तक ले जाया जाएगा। जिससे लोग दिल्‍ली-नोयडा-आगरा-लखनऊ होते हुए सीधे गाजीपुर तक जा सकेंगे। उन्होंने कहा सितम्बर-अक्‍टूबर से बिजली ट्रांसमिशन और डिस्‍ट्रीब्‍यूशन भी शुरू हो जाएगा। प्रदेश में ऐसा माहौल बनाने की कोशिश है जो इंडस्‍ट्री और विकास फ्रेंडली हो।"  

Tags:    India 
Share it
Top