एक सप्ताह के भीतर निस्तारित होंगी राजस्व सम्बंधित शिकायतें

एक सप्ताह के भीतर निस्तारित होंगी राजस्व सम्बंधित शिकायतेंगाँव कनेक्शन, बाराबंकी

बाराबंकी ज़िले के रामनगर तहसील में आयोजित तहसील दिवस की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी अजय यादव ने राजस्व से सम्बन्धित शिकायतों को मौके पर जाकर देखे साथ ही अन्य समस्याओं का एक सप्ताह के भीतर निराकरण सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया।

जिलाधिकारी ने तहसील प्रशासन को इस बात की सख्त हिदायत दी है कि वरासत से सम्बन्धित अविवादित मामलों में तुरन्त वरासत दर्ज करायी जाए। जिलाधिकारी ने तहसील के सभी लेखपालों को निर्देश दिया है कि राजस्व से सम्बन्धित तहसील दिवस में आये मामले एक सप्ताह में अनिवार्य रूप से निस्तारित करा दिये जाये। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि तहसील दिवस के अवसर पर प्राप्त होने वाले प्रार्थना-पत्रों के निस्तारण में गुणवत्ता को सर्वोच्च प्राथमिकता प्रदान की जाये। जिलाधिकारी ने मौजूद अधिकारियों से कहा कि स्वयं अपने स्तर पर निस्तारण की गुणवत्ता से संतुष्ट होने के बाद ही आख्या तहसील को भेजी जाए।

अजय यादव ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिया है कि तहसील दिवस के प्रकरणों को एक सप्ताह में निस्तारित करें साथ ही यह भी सुनिश्चित करें कि इनमे प्रभावी कार्यवाही हो। यदि किसी विभाग के द्वारा प्रार्थना पत्रों के निस्तारण में गुणवत्ता की अनदेखी की जायेगी तो सम्बन्धित अधिकारी के विरूद्ध कार्रवाई होगी। उन्होने तहसीलदार को निर्देश दिया कि जिस विभाग का निस्तारण गुणवत्तापूर्ण न पाया जाए, सम्बन्धित प्रार्थना पत्र को तुरन्त वापस कर गुणवत्तापूर्ण निस्तारण के लिए वापस भेज दिया जाए। 

तहसील रामनगर में आयोजित तहसील दिवस के दौरान कुल 217 प्रार्थना पत्रों पर जिलाधिकारी अजय यादव द्वारा सुनवाई की गयी। सबसे ज्यादा मामले राजस्व विभाग से सम्बन्धित रहे। राजस्व से सम्बन्धित 110, विकास से सम्बन्धित 33, पुलिस से सम्बन्धित 19, पूर्ति से सम्बन्धित 15 मामले तहसील दिवस में रखे गयें चकबन्दी से 04, विद्युत से 07 और शिक्षा  विभाग से सम्बन्धित 05 मामले प्रस्तुत हुये। जिलाधिकारी ने प्रत्येक मामले में सम्बन्धित फरियादी से पूरे प्रकरण की जानकारी लेने के बाद उससे सम्बन्धित विभाग के अधिकारी से भी फीडबैक लिया और प्रार्थना पत्र के निस्तारण के लिए जरूरी समय देते हुए निर्देश दिया कि निर्धारित समय में उसका निराकरण कर दिया जाये। इस अवसर पर 12 प्रकरणों का निपटारा तहसील दिवस के दौरान ही कर दिया गया। 

तहसील दिवस के दौरान समाज कल्याण विभाग से सम्बन्धित मामलों में 01 प्रकरण पर जिलाधिकारी द्वारा कड़ी नाराजगी जाहिर की गयी। उन्होने साफ कहा कि समाज कल्याण विभाग द्वारा दिये जाने वाली पेंशन के मामलों में पूरी पारदर्शिता बरती जाये। साथ ही यह भी कहा किगड़बड़ी करने वाले पटल सहायक के विरूद्ध कार्रवाई होगी। 

तहसील दिवस में रामनगर के नगर पंचायत अध्यक्ष के विरूद्ध सभासदों द्वारा शिकायत प्रस्तुत की गयी कि नगर पंचायत अध्यक्ष द्वारा गबन, कार्यो में अनियमितता बरती गयी। जिस पर जिलाधिकारी ने कहा कि मामले में जांच कराकर कार्रवाई होगी।

नगर पंचायत रामनगर में कार्यरत कर्मचारी तौफीक के मृत्यु के बाद उसकी बेटी की मृतक आश्रित नियुक्ति में 2011 से की जा रही हीलाहवाली को जिलाधिकारी ने संज्ञान में लिया और एडीएम को निर्देश दिया कि इस मामले में सम्बन्धित अधिशासी अधिकारी के विरूद्ध कार्रवाई सुनिश्चित करें। उन्होंने इस प्रकरण में मृतक आश्रित नियुक्ति शीघ्र किये जाने के निर्देश दिये। 

Tags:    India 
Share it
Top