एक टन प्याज बेचकर किसान की कमाई सिर्फ एक रुपया

एक टन प्याज बेचकर किसान की कमाई सिर्फ एक रुपयागाँव कनेक्शन

पुणे (भाषा)। प्याज की गिरती कीमतों से परेशान किसान देवीदास परभाने (48 वर्ष) ने अपनी व्यथा सुनाते हुए कहा है कि जिला कृषि उत्पाद विपणन समिति (एपीएमसी) में लगभग एक टन प्याज बेचकर वह केवल एक रुपया ही कमा सके। देवीदास परभाने का कहना है कि प्याज की कीमतों में गिरावट के कारण अन्य किसानों ने भी इस साल बंपर फसल के बावजूद ‘औने पौने दाम’ वाले सौदे किए हैं।

परभाने पूरा गणित समझाते हुए कहते हैं कि उसने 2 एकड़ जमीन में 80,000 रुपए खर्च करके प्याज उगाया। उन्होंने कहा, ‘मैंने 952 किलो प्याज एक ट्रक में लादकर पुणे स्थित एपीएमसी पहुंचाया। प्रति 10 किलो प्याज के लिए मुझे 16 रुपए मिले। यानी एक रुपए साठ पैसे प्रति किलो का भाव मिला।’ उन्होंने बताया, ‘प्याज की कुल कीमत 1523.2 रुपए मिली, इसमें से बिचौलिये ने 91.35 रुपए कमीशन लिया, श्रमिक शुल्क 59 रुपए रहा। इसके अलावा 18.55 रुपए व 33.30 रुपए विशिष्ट शुल्क के रूप में दिए गए। इसके अलावा 1320 रुपए ट्रक ड्राइवर ने लिए जो प्याज लेकर एपीएमसी गया था। इस प्रकार कुल मिलाकर 1522.20 रुपए खर्च हो गए।’ परभाने ने कहा कि सभी कटौतियों के बाद उनके पास केवल एक रुपया ही बचा। उसने कहा, ‘मैं कम से कम तीन रुपए प्रति किलो की उम्मीद कर रहा था। लेकिन इस तरह के सौदे से वह निराश है।’ एपीएमसी से इस बारे में कोई टिप्पणी नहीं मिल सकी।

इस बीच प्याज व्यापारियों व एपीएमसी लासलगांव के सदस्यों का एक प्रतिनिधि मंडल महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से मिला तथा आग्रह किया है कि वह अधिक प्याज के निर्यात की अनुमति दे। प्याज उत्पादकों को मुआवजा दिया जाए और किसानों को होने वाले भारी नुकसान से बचाने के लिए सरकार अतिरिक्त प्याज की खरीदारी करे।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top