बीजेपी ने नफरत फैलाई, एक भी स्लाटर हाउस बंद नहीं हुआ अब शराब पर टैक्स बढ़ाकर गाय की सेवा करेंगे: अखिलेश

इस बार रथयात्रा नहीं ट्विटर और जनसभाओं से करेंगे अखिलेश चुनाव प्रचार, कहा- लोकसभा में मिलकर लहराएंगे परचम

akhilesh yadav attacks bjp in a program organised in kannuaj twitter chaupal

कन्नौज (यूपी)। इस साल होने जा रहे लोकसभा चुनाव में सपा मुखिया और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव रथयात्रा नहीं निकालेंगे। सोशल मीडिया खासतौर पर ट्विटर और जनसभाओं से चुनावी प्रचार करेंगे। यह बात उन्होंने कन्नौज जिला मुख्यालय से करीब 34 किमी दूर तहसील तिर्वा क्षेत्र के फकीरेपुरा-चंदुआहार में आयोजित 'अखिलेश की चैपाल' में समाजवादी संवाद के दौरान पूछे गए सवालों के जवाब में कही।

शुक्रवार को चौपाल में विजय वर्मा की ओर से पूछे गए सवाल कि रात में फसल रखाने के लिए जागते हैं और बच्चे बीमार हो रहे हैं। इससे न तो मजदूरी कर पा रहे हैं और न ही नौकरी ढूंढ पा रहे हैं, पर पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, ''यह समस्या और दुःख-तकलीफ आपका नहीं है। प्रदेश में काफी लोग परेशान हैं। चुनाव के दौरान जो भाजपा की बात लोगों को अच्छी लग रही थी, अब वही परेशान कर रही है।'' आगे कहा कि ''भाजपा सरकार में प्रदेश में एक भी स्लाटर हाउस बंद नहीं हुआ है। सिर्फ नफरत फैलाई गई है, उसी से परेशानी आई है।''

यूपी सरकार पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा, ''अब शराब पर टैक्स बढ़ाने की तैयारी हो रही है कि लोग अधिक शराब पिएं। इससे आने वाली आमदनी को गाय की सेवा पर खर्च किया जाएगा। शायद इससे सांड को भी रोक पाएंगे।''

''उत्तर प्रदेश के सभी डीएम और पुलिस अधिकारी इस समय गायों को पकड़ने में लगे हुए हैं। हमने काऊ मिल्क प्लांट इसलिए खोला था कि किसान को चार रुपए दूध का मूल्य अधिक मिलेगा और गायों की संख्या भी बढ़ जाएगी।'' पूर्व मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि ''तार लगाने से गाय और किसान की फसल नहीं बचने वाली है।''


राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री @yadavakhilesh जी कन्नौज के फ़क़ीरपुरा गाँव में #अखिलेशकीचौपाल https://t.co/7jid7CpHtB

कार्यक्रम में ट्विटर के वायस प्रेसीडेंट काॅलिन क्रोवल ने अंग्रेजी उद्बोधन दिया। कहा कि यहां आकर खुश हैं। सपा को बधाई। इस कार्यक्रम से टेक्नालाॅजी पहुंच रही है।'' सीएम की पत्नी और सांसद डिंपल यादव ने सभी का आभार जताया।

भाजपा का धोखा बोलता है, रहेगा नारा

समाजवादी संवाद में ट्विटर और चैपाल के माध्यम से पूछे जा रहे सवालों में एक सवाल आया कि पिछले चुनाव में काम बोलता है नारा रहा। अब जो चुनाव आ रहा है उसमें नारा क्या रहेगा। पर सपा मुखिया अखिलेश यादव ने कहा कि ''भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ इनका धोखा बोलता है... नारा रहेगा।''

डेयरी योजना का ब्याज माफ करेंगे, टैंकर लगाकर दूध खरीदेंगे

चौपाल में एक युवक ने सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष से कहा कि आपकी सरकार ने कामधेनु डेयरी योजना शुरू की थी, इससे रोजगार और काम मिलता था। लेकिन इस सरकार ने बंद कर दी। क्या आपकी सरकार इसे चलाएगी। राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि समाजवादी सरकार आने पर डेयरी योजना का पूरा ब्याज माफ किया जाएगा। यूपी पुलिस की 100 नंबर और एंबुलेंस की गाड़ियों की तरह टैंकर लगाकर सबका दूध खरीदा जाएगा। आठ दिन का इंतजार भी नहीं करना होगा और मौके पर ही भुगतान किया जाएगा।

कांग्रेस ने भी कराई थी सीबीआई जांच

समाजवादी संवाद के दौरान सीबीआई के दुरूपयोग पर पूछे गए सवाल के जवाब में सपा मुखिया ने कहा कि यह तो चुनाव में होना ही था। पहले भी कांग्रेस सरकार में नेताजी, हमारी और डिंपल आदि की सीबीआई जांच हो चुकी है। हम धन्यवाद देना चाहेंगे कि कांग्रेस ने हमारा कागज ठीक करा दिए थे। अब बीजेपी सीबीआई जांच करा रही है। उन्होंने आगे कहा कि गंगा से बालू कौन निकाल रहा है, इसकी जांच होनी चाहिए। हमारी सरकार में भी बालू निकाली गई थी। सोनभद्र में आठ गाड़ियां जला दी गईं। इसमें भाजपा सांसद के लड़के का नाम आया है। इसकी भी जांच होनी चाहिए।

सीबीआई एक बार ही हमसे पूछताछ कर ले, फिर चुनाव में लग जाने दे। चुनाव बाद फिर पूछताछ कर ले। कन्नौज के छिबरामऊ की विधायक और खनन राज्यमंत्री अर्चना पांडेय का नाम लिए बगैर उन्होंने तंज कसा कि ''कन्नौज की मंत्री तो कितनी अच्छी हैं। वह कहती हैं कि हमे कुछ नहीं चाहिए, जो पीए ले आएगा उसे स्वीकार कर लेंगे।''

पुराने कामों का हो रहा शुभारंभ, मीडिया हमारा नाम तक नहीं लेती

आगरा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से कई कामों के शिलान्यास और लोकार्पण पर पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि अधिकतर कामों की शुरूआत हमारी सरकार ने ही की थी। मेट्रो की भी शुरूआत हमने की, लेकिन जब हमने और डिंपल ने टीवी देखी और अखबार पढे़ तो उसमें हमारी सरकार का जिक्र भी नहीं था।

बीजेपी की नियत साफ नहीं, गंगा साफ नहीं होगी

''सपा सरकार में गोमती को जिस तरह साफ किया गया, उसी तरह गंगा को भी साफ करना होगा। सभी नाले रोकने होंगे। भाजपा सरकार पहले काली नदी साफ करे तभी गंगा नदी साफ होगी। दिल्ली से आने वाली यमुना नदी को भी साफ करना होगा जिसकी गंदगी इटावा में आती है। भाजपा पहले अपने आप को भी साफ करे।'' पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आगे कहा कि ''भाजपा की नियत साफ नहीं है। नियत साफ करे तब ही गंगा साफ हो सकती हैं।''

न्यूयार्क के सिस्टम से शुरू की थी डायल 100, अब होने लगी वसूली

पुलिस और भ्रष्टाचार पर पूछे गए उमर्दा के अनुराग की ओर से सवाल पर सपा अध्यक्ष ने कहा कि ''सपा सरकार में डायल 100 शुरू की गई थी। यह न्यूयार्क के सिस्टम की तरह था, ताकि थानों की दादागिरी खत्म हो जाए। यहां वसूली होती है और नाम जोड़ने और हटाने का खेल चलता है। लेकिन थाने की यह बीमारी डायल 100 में भी आ गई है। सरकार बनने पर इसे भी ठीक किया जाएगा।''

किसी ने कहना नहीं माना, अब सब नाराज बैठे हैं

चौपाल में अनुदेशक और शिक्षामित्रों ने भी अपनी-अपनी व्यथा बताई। इस पर अखिलेश ने कहा, ''बीजेपी ने भरोसा दिया था कि कोर्ट से मदद करेंगे। चुनाव में शिक्षामित्रों, अनुदेशकों, आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों, आशाओं, रोजगार सेवकों और रसोइयों ने बात नहीं मानी और भाजपा का सहयोग किया। भाजपा ने सबका भरोसा तोड़ा अब सभी नाराज बैठे हैं।''


किसानों, बेरोजगारों और महंगाई पर रहा फोकस

अखिलेश की चौपाल में उनका फोकस किसानों, बेरोजगारों पर महंगाई पर रहा। यह भी कहा, ''जाति-पात को छोड़कर सरकार पहचाननी होगी। विकास से भी प्रदेश और देश आगे बढ़ सकता है। मुख्यमंत्री अब बड़ी सड़क पर टैक्स अधिक लगाने जा रहे हैं। अच्छ रहता कि सरकार के मंत्री कम कर अपना खर्च कम कर देते।

कंफ्यूज्ड प्राइम मिनीस्टर हैं

शुक्रवार को कार्यक्रम में सपा मुखिया ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जुबानी हमलावर होते हुए कहा, ''देश के सबसे कन्फ्यूज्ड प्राइम मिनिस्टर हैं।'' भाजपा ने आरएसएस और भारत के संविधान दो-दो शपथ ले रखी हैं। इसलिए भाजपा को पता ही नहीं है कि कौन सा काम करना है। नोटबंदी, जीएसटी और विदेश जाने से कुछ नहीं होता है। भुखमरी, रोजगार और माल को बाहर भेजने के आंकड़ों में भारत पीछे हो गया है। जाति-पात को मिलकर खत्म करना होगा। सरकार बनने पर समाजवादी पेंशन की रकम 500 रूपए से बढ़ाकर 2000 रुपए की जाएगी।

विकास की रफ्तार को दोगुना किया जाएगा। आवास योजना की लागत पांच लाख तक की जाएगी। उन्होंने कहा कि किसान को सरसों के तेल का भी रेट सही नहीं मिल पा रहा है। राजस्थान और मध्य प्रदेश का जिक्र करते हुए कहा कि यहां बड़े पैमाने पर सरसों उगती है। तेलांगना और ओडीसा का जिक्र करते हुए कहा कि किसानों की मदद इन राज्यों से बेहतर की जाएगी। आलू किसानों को भी सही रेट मंडी के जरिए मिलेगा। लेकिन भाजपा सरकार ने मंडियों का काम रोक दिया।

Share it
Top