Lok Sabha Elections 2019: राहुल गांधी पर नरेंद्र मोदी के बयान को चुनाव आयोग से क्लीन चिट

Lok Sabha Elections 2019: राहुल गांधी पर नरेंद्र मोदी के बयान को चुनाव आयोग से क्लीन चिट

लखनऊ। चुनाव आयोग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को वर्धा में दिए उनके भाषण के लिए क्लीन चिट दे दी है। इस भाषण में उन्होंने वायनाड सीट से चुनाव लड़ने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा था। मोदी ने कहा था कि केरल के इस संसदीय क्षेत्र में अल्पसंख्यक समुदाय के मतदाताओं की संख्या अधिक है, इसलिए राहुल गांधी वायनाड से चुनाव लड़ रहे हैं। कांग्रेस ने इस भाषण के खिलाफ चुनाव आयोग से अपील की थी और प्रधानमंत्री मोदी के 'विभाजनकारी भाषण' के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी। कांग्रेस ने आरोप लगाया था कि मोदी की राहुल गांधी के खिलाफ टिप्पणी नफरत पैदा करने वाली थी।

प्रधानमंत्री मोदी ने एक अप्रैल को वर्धा में एक रैली को संबोधित करते हुए कथित रूप से कहा था कि विपक्षी दल लोकसभा की उन सीटों से अपने बड़े नेताओं को खड़ा करने से डरता है जहां बहुसंख्यकों का प्रभुत्व है। मोदी ने कथित रूप से कहा था, "कांग्रेस ने हिंदुओं का अपमान किया और देश के लोगों ने पार्टी को चुनाव में दंडित करने का फैसला किया है। उस पार्टी के नेता अब उन लोकसभा सीटों से चुनाव लड़ने से डर रहे हैं जहां बहुसंख्यक (हिंदू) जनसंख्या का प्रभुत्व है। इसी कारण से वे ऐसे स्थानों पर शरण लेने के लिए बाध्य हैं जहां बहुसंख्यक अल्पसंख्यक की भूमिका में हैं।" राहुल गांधी उत्तर प्रदेश के अमेठी से भी चुनाव लड़ रहे हैं।

चुनाव आयोग के एक प्रवक्ता ने कहा, मामले की आदर्श आचार संहिता के मौजूदा दिशानर्दिेशों और जनप्रतिनिधि कानून के तहत महाराष्ट्र के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने एक रिपोर्ट दी थी। इस रिपोर्ट के अनुरूप विस्तृत जांच पड़ताल की गई। इस रिपोर्ट की पड़ताल के बाद आयोग का यह विचार है कि इस मामले में ऐसा कोई उल्लंघन नहीं दिखा है।




More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top