Loksabha Elections 2019: दिग्विजय सिंह के सामने बीजेपी ने भोपाल से बनाया साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को उम्मीदवार

कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह के सामने बीजेपी ने 2008 के मालेगांव विस्फोट मामलों की आरोपी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को अपना उम्मीदवार घोषित किया है। भोपाल लोकसभा सीट पर 12 मई को मतदान होना है।

Loksabha Elections 2019: दिग्विजय सिंह के सामने बीजेपी ने भोपाल से बनाया साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को उम्मीदवार

लखनऊ। बीजेपी ने लम्बे इंतजार के बाद बुधवार को भोपाल लोकसभा सीट से अपना उम्मीदवार उतार दिया है। कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह के सामने बीजेपी ने 2008 के मालेगांव विस्फोट मामलों की आरोपी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को अपना उम्मीदवार घोषित किया है। भोपाल लोकसभा सीट पर 12 मई को मतदान होना है।

बीजेपी की ओर से जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार पार्टी की केन्द्रीय चुनाव समिति ने साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को भोपाल लोकसभा सीट से दल का उम्मीदवार घोषित किया है। संघ परिवार का लगातार विरोध करने के कारण बीजेपी दिग्विजय सिंह के खिलाफ किसी कट्टर हिंदू छवि वाले नेता को चुनाव मैदान में उतारना चाहती थी। इस कारण साध्वी उमा भारती और साध्वी प्रज्ञा सिंह को बीजेपी उम्मीदवार के तौर पर भोपाल के चुनावी मैदान में उतारने के लिए कुछ समय से मंथन चल रहा था।

बीजेपी सूत्रों के अनुसार उमा भारती पहले ही चुनाव नहीं लड़ने की घोषणा कर चुकी थीं। इसलिए साध्वी प्रज्ञा सिंह का नाम अंतिम दौड़ में आगे रहा। बता दें कि वर्ष 2008 में मालेगांव बम विस्फोट मामले में प्रज्ञा ठाकुर के खिलाफ यूएपीए एक्ट के तहत मामला अदालत में विचाराधीन है।

उमा भारती वर्ष 1999 में भोपाल लोकसभा सीट से भारी मतों से जीती थीं। सूत्रों के अनुसार दिग्विजय सिंह को लोकसभा में पहुंचने से रोकने के लिए बीजेपी पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को भी यहां से चुनावी मैदान में उतारने पर गंभीरता से विचार कर रही थी।

भोपाल लोकसभा सीट बीजेपी का गढ़ मानी जाती है और इस सीट पर बीजेपी का लगभग तीन दशक से कब्जा है। हालांकि, नवंबर 2018 में हुए विधानसभा चुनाव में भोपाल लोकसभा की आठ विधानसभा सीटों में से कांग्रेस ने तीन पर विजय हासिल की और शेष पांच पर बीजेपी की जीत के अंतर को काफी कम किया। इससे कांग्रेसी खेमे में इस सीट को हासिल करने की उम्मीदें काफी तेज हैं।

भोपाल लोकसभा सीट में कुल 18 लाख मतदाता हैं और इसमें 4.5 लाख मतदाता मुस्लिम हैं। मुस्लिम मतदाताओं के कांग्रेस की ओर रुझान के चलते बीजेपी ने लम्बे मंथन के बाद संघ की पसंद और कट्टर हिन्दूवादी चेहरे साध्वी प्रज्ञा सिंह को अपना उम्मीदवार बनाया है।

इसकी काट के लिए दिग्विजय सिंह अपनी उम्मीदवारी घोषित होने के बाद यहां लगातार मंदिरों के दर्शन कर रहे हैं। कुछ दिन पहले ही उन्होंने भोपाल शहर में स्थित एक राम मंदिर की विवादित जमीन को जिला कांग्रेस कमेटी से लेकर मंदिर ट्रस्ट को सौंपने का आश्वासन भी दिया है।

प्रज्ञा सिंह भी कांग्रेस के उम्मीदवार दिग्विजय सिंह के खिलाफ बीजेपी के उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ने को लेकर उत्सुक हैं।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top