उत्तर प्रदेश और पंजाब समेत 5 राज्यों में 7 चरणों में होंगे चुनाव, यूपी में इन तारीखों में पड़ेंगे वोट

चुनाव आयोग ने यूपी, पंजाब, गोवा, मणिपुर और उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया है।

उत्तर प्रदेश और पंजाब समेत 5 राज्यों में 7 चरणों में होंगे चुनाव, यूपी में इन तारीखों में पड़ेंगे वोट

लखनऊ। देश के पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव का अधिकारिक बिगुल बज गया है। चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश, पंजाब, उत्तराखंड, मणिपुर और गोवा के लिए चुनाव की तारीखों का आज ऐलान किया है। चुनाव आयोग ने कहा कि कोविड गाइडलाइंस के साथ सभी 5 राज्यों में 7 चरणों में चुनाव पूरे किए जाएंगे। इसी बीच चुनाव आयोग ने 15 जनवरी तक सभी राज्यों में रैली, पदयात्रा, साइकिल रैली आदि निकालने पर पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया है। रैलियों को लेकर आगे का ऐलान 16 जनवरी को होगा।

7 चरणों में चुनाव सिर्फ उत्तर प्रदेश में होंगे। यहां पहले चरण का चुनाव 10 फरवरी को होगा, जिसके लिए 14 जनवरी को अधिसूचना की जाएगी। 7 मार्च को सभी राज्यों में चुनाव पूर्ण किया जाएगा और 10 मार्च को सभी राज्यों में एक साथ मतगणना होगी। उत्तर प्रदेश में 10 फरवरी को पहला चरण, 14 फरवरी को दूसरा, 20 फरवरी को तीसरा, 23 फरवरी को चौथा, 27 फरवरी पांचवां, 3 मार्च को छठे और 7 मार्च को सातवें दौर का मतदान होगा।

इससे पहले चुनाव आयोग ने कहा पांच राज्यों की विधानसभा का कार्यकाल खत्म होने जा रहा है ऐसे में इन पांच राज्यों में 690 सीटों पर मतदान होने वाला है। चुनाव आयोग ने कहा कोरोना महामारी के बीच विधानसभा चुनाव कराना चुनौतीपूर्ण है, कोविड-19 गाइडलाइंस के तहत चुनाव कराए जाएंगे। लेकिन चुनाव कराना भी महत्वपूर्ण है। इसके लिए नए प्रोटोकाल बनाए गए हैं, हमने कुछ तैयारियां की हैं। हमने तीन उद्देश्यों पर काम किया है, कोविड फ्री चुनाव, मतदाताओं की सहूलियत, अधिकतम मतदाताओं की भागीदारी होनी चाहिए।

18.34 करोड़ मतदाता डालेंगे वोट

पांच राज्यों की 690 सीटों के लिए चुनाव में 18.34 करोड़ मतदाता चुनाव प्रक्रिया में हिस्सा लेंगे, जिसमें 8.55 करोड़ महिलाएं होंगी। जिसमें 24.9 लाख मतदाता पहली बार वोट डालेंगे, महिलाओं की भागीदारी बढ़ी है। इस बार करीब 11.04 लाख महिला मतदाता पहली बार मतदान करेंगे।

चुनाव आयोग की पूरी प्रेस कॉन्फ्रेंस यहां देखें

उम्मीदवारों को ऑनलाइन नामांकन की सुविधा

कोविड की महामारी को देखते हुए चुनाव आयोग ने सभी राज्यों में उम्मीदवारों को नामांकन ऑनलाइन दाखिल करने की वैकल्पिक सुविधा देने का ऐलान किया है। चुनाव आयोग ने कहा कि जो उम्मीदवार दागी हैं, जिनकी छवि आपराधिक पृष्ठभूमि की है, उन्हें चुनाव प्रचार के दौरान टीवी, अखबर, में तीन बार अपने खिलाफ चल रहे, लंबित मुकदमों की जानकारी देनी होगी। इतना ही नहीं राजनीतिक दलों को भी ये उन्होंने इनका चुनाव क्यों किया। ऐसे उम्मीदवारों की जानकारी इलेक्शन कमीशन के ऐप Know Your Candidate पर भी उपलब्ध कराई जाएगी।

नेताओं और राजनीतिक दलों को रैलियों को इजाजत भी ऑनलाइन मिल सकेगी। इसके लिए आयोग ने सुविधा कंडीडेट Suvidha Candidate की सुविधा दी है। नेताओं/राजनीतिक दलों को किसी सरकारी दफ्तर जाकर इजाजत नहीं लेनी होगी वो ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे।

चुनाव के दौरान किसी तरह की गड़बड़ी होने पर उसकी जनता उसकी सूचना भी ऑनलाइन दे सकेगी। इसके लिए Cvigil नाम का ऐप काम करेगा। आम लोग या मतदाता किसी हंगामे-गड़बड़ी की फोटो खींचकर यहां अपलोड करेंग और 100 मिनट में मौके पर पहुंचेगी और एक्शन लेगी।


40 लाख खर्च कर सकेंगे उत्मीदवार

चुनाव आयोग ने इस बार चुनाव में उम्मीदवारों के लिए के लिए खर्च सीमा को बढ़ा दिया है। यूपी और पंजाब जैसे राज्यों में उम्मीदवार अब 28 लाख की जगह 40 लाख खर्च कर सकेंगे।


खबर अपडेट हो रही है



Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.