एनआईटी को शिफ्ट करने की बाहरी छात्रों की मांग खारिज

एनआईटी को शिफ्ट करने की बाहरी छात्रों की मांग खारिजgaonconnection

श्रीनगर (भाषा)। मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अधिकारियों ने एनआईटी श्रीनगर के बाहर के छात्रों की संस्थान को कश्मीर के बाहर शिफ्ट करने की मांग को खारिज कर दिया लेकिन उन्हें उनके वास्तविक मुद्दों पर विचार करने का आश्वासन दिया है।एनआईटी के बाहरी छात्रों के एक समूह ने संस्थान के हालात पर चर्चा करने के लिए उपमुख्यमंत्री निर्मल सिंह और शिक्षा मंत्री नईम अख्तर के साथ ही मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अधिकारियों से शुक्रवार रात मुलकात की थी।

आधिकारिक सूत्रों की मानें तो, 'एनआईटी को कश्मीर से बाहर स्थानांतरित करने की मांग को मानव संसाधन मंत्रालय के अधिकारियों ने सिरे से खारिज कर दिया। ये छात्रों को बता दिया गया है।'

सूत्रों ने बताया कि मंत्रियों और मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अधिकारियों ने हालांकि उनकी वास्तविक मांगों जैसे परिसर के अंदर बेहतर सुविधाएं देने और शैक्षिक माहौल को सुधारने पर विचार करने का आश्वासन दिया है। सूत्रों ने कहा, 'एनआईटीयों के बोर्ड ऑफ गवर्नर्स 11 अप्रैल को बैठक कर रहा है जहां इन सभी मुद्दों पर विचार किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि मंत्रियों ने छात्रों से कहा कि एनआईटी में सुरक्षा कभी भी एक मुद्दा नहीं रहा है लेकिन राज्य सरकार सुनिश्चित करेगी कि इस मोर्चे की चिंताओं पर भी विचार किया जाए। सूत्रों के मुताबिक़, 'मंत्रियों ने इस बात पर ज़ोर दिया कि संस्थान के छात्र यहां तब आए जब आतंकवाद चरम था और कभी भी किसी को कोई नुकसान नहीं पहुंचा।' इस बीच, एनआईटी के एक अधिकारी ने कहा कि बैठक एक सकारात्मक घटनाक्रम है क्योंकि परिसर के अंदर की स्थिति में सुधार हो रहा है। एनआईटी श्रीनगर के कुलसचिव फयाज अहमद मीर ने कहा कि हालात शांत हैं लेकिन बाहरी छात्र अब भी प्रदर्शन करते दिख रहे हैं।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top