घर-घर जाकर पशुओं को लगाए गए खुरपका-मुंहपका के टीके 

घर-घर जाकर पशुओं को लगाए गए खुरपका-मुंहपका के टीके पशुओं का संक्रामक रोग है मुंहपका-खुरपका।

अनिल चौधरी,स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

पीलीभीत। पशुओं का संक्रामक रोग है मुंहपका-खुरपका जो गाय, भैंस, भेड़, बकरियों में होता है। संकर नस्ल के विदेशी पशु इससे ज्यादा पीड़ित होते हैं। जो पशु इस रोग से पीड़ित होकर ठीक हो जाते है। वह बहुत कमजोर व खेती बाड़ी के लायक नहीं रह पाते हैं। टीके लगने पर पशुपालकों ने खुशी जाहिर की है।

गाँव से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

गाँव कनेक्शन के स्वयं प्रोजेक्ट के अंतर्गत पीलीभीत के पशु चिकित्सालय ने खंड मरौरी के गाँव रम्पुरा महरा, रतनपुर मुडिया में गाय व भैंसों में खुरपका व मुंहपका का टीकाकरण किया गया है। डॉ. लक्ष्मी प्रसाद (उप मुख्यचिकित्साधिकारी सदर) की टीम ने गाँव-गाँव जाकर पशुओं का टीकाकरण किया। डॉ. लक्ष्मी प्रसाद ने बताया, “चार माह से कम व आठ माह से ज्यादा गाभित व बीमार पशुओं को टीके नहीं लगाये जाते।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top