गाँव के बच्चे भी सीख सकेंगे फर्राटेदार अंग्रेज़ी

गाँव के बच्चे भी सीख सकेंगे फर्राटेदार अंग्रेज़ीगाँवकनेक्शन

कन्नौज। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की ओर से प्रदेश को सौगातें देने का सिलसिला जारी है। काफी दिनों से इंतजार कर रहे गाँवों के गरीब लोग अपने बच्चे को फर्राटेदार अंग्रेजी सिखा सकेंगे। उनके लिए सीबीएसई बोर्ड की सुविधा वाला स्कूल इस नए शैक्षिक सत्र से शुरू हो जाएगा।

प्रदेश के 18 मंडलों में समाजवादी अभिनव विद्यालयों की स्थापना की जाएगी। इनमें कक्षा छह से लेकर 12 तक की पढ़ाई कराई जाएगी। यह सीबीएसई बोर्ड से संबद्ध होंगे, जिनमें छात्र-छात्राओं का दाखिला चयन परीक्षा के आधार पर किया जाएगा।

प्रमुख सचिव जीतेन्द्र कुमार की तरफ से जारी आदेश में कहा गया है कि ग्रामीण क्षेत्रों में सरकार की तरफ से सार्वजनिक और निजी भागेदारी के आधार 191 मॉडल स्कूल स्थापित किए जा रहे हैं। इनमें 18 मंडलों के मुख्यालय जनपद में एक-एक मॉडल स्कूल के रूप में समाजवादी अभिनव विद्यालय स्थापित किए जाएंगे। फैजाबाद और कानपुर मण्डल के मुख्यालय में एक भी मॉडल स्कूल स्वीकृत न होने के कारण फैजाबाद मंडल के सुल्तानपुर और कानपुर मंडल के कन्नौज में एक-एक समाजवादी अभिनव विद्यालय खोले जाएंगे। इन स्कूलों का संचालन माध्यमिक शिक्षा विभाग द्वारा किया जाएगा। स्कूलों में हिन्दी के साथ-साथ अग्रेंजी पर भी जोर दिया जाएगा।

दो सेक्शन में होंगे संचालित

कक्षा छह से 12 तक संचालित होंगे विद्यालय, जिसमें दो-दो सेक्शन होंगे। मुफ्त एवं बाल शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009 के तहत कक्षा छह से आठ तक प्रति सेक्शन अधिकतम 35 छात्रों को रखा जाएगा। आगे की कक्षाओं में प्रति सेक्शन अधिकतम 40 छात्र होंगे।

क्लास 9 और 11 में दाखिले के लिए होगी प्रवेश परीक्षा

इन स्कूलों में क्लास छह से आठ तक के छात्रों का प्रवेश ‘पहले आओ, पहले पाओ’ के आधार पर किया जाएगा। जबकि कक्षा नौ और 11 में छात्रों का दाखिला प्रवेश परीक्षा के आधार पर किया जाएगा। 2016-17 में शुरू होने वाले इन स्कूलों का पहला सत्र गैर आवासीय स्कूल के रूप में होगा। जबकि सत्र 2017-18 में आवासीय स्कूल के रूप में संचालन किया जाएगा।

रिपोर्टर - अजय कुमार मिश्र

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top