Top

डीएम आए तो रातोंरात चमाचम हुआ गाँव

डीएम आए तो रातोंरात चमाचम हुआ गाँवगाँव कनेक्शन

महिगंवा (लखनऊ)। आज शाम लखनऊ जिला मजिस्ट्रेट राजशेखर महिगंवा गाँव वालों की समस्या को करीब से जानने व समझने के लिए जब वहां पहुंचने वाले थे, तो उसके कुछ समय पहले ही गाँव की मूलभूत समस्याओं को आननफानन में दूर किया जा रहा था। वो गाँव जो अभी तक बुड्ढा नज़र आता था उसे कुछ ही समय में नयी-नवेली दुलहन बना दिया गया है।  

महिगंवा गाँव लखनऊ ज़िलामुख्यालय से करीब 45 किलोमीटर दूर स्थित बख्शी का तालाब ब्लॉक में आता है इस ग्राम पंचायत के पड़ोस में स्थित कुम्हरांवा ग्राम पंचायत के निवासी प्रेम किशोर मिश्र (52 वर्ष) बताते हैं, "अभी तक कितने तहसील दिवस निकल गए, गाँव वाले बोल-बोल कर परेशान हो गए पर आज तक गाँव के बाहर की पुलिया ठीक नहीं हुई डीएम का आना हुआ तो पांच साल से टूटी नहर की पुलिया तीन दिन में दुरुस्त हो गई" 

आज महिगंवा जाने के लिए किसी से रास्ता पूछने की ज़रूरत नहीं पड़ी, साफ़ सड़क और रास्तों के दोनों तरफ पड़े चूने ने करीब पांच किलोमीटर पहले ही रास्ता बताना शुरू कर दिया था 

गाँव का माहौल मेले जैसा है माहिगंवा प्राथमिक स्कूल जब कार्यक्रम स्थल के रूप में चुना गया, तो ज़ाहिर है कि कुछ न कुछ मरम्मत तो स्कूल में कराई ही जानी थी 

महिगंवा ग्राम पंचायत के निवासी 22 वर्षीय कौशल बताते हैं, "पिछले पांच साल से ये स्वास्थ केंद्र (स्कूल के पास ही) खंडहर की तरह पड़ा था दो दिन पहले इसकी मरम्मत करवा कर इसे रंगवाया गया है और कार्यक्रम के एक रात पहले इसमें नया गेट लगवाया गया है" 

महिगंवा ग्राम पंचायत के आशीष श्रीवास्तव बताते हैं, "कई महीनों से यहाँ के प्राथमिक स्कूल में मिड-डे मील अपने मनमाने ढंग से बनता था, पर पिछले एक हफ्ते से रोज़ बनने लगा है"

डीएम के गाँव पहुंचने से पहले ये बदलाव हुए

- स्कूल में काफी समय पहले सोलर पैनल चोरी हो गए थे जिसके बाद प्रशासन को इसके स्थान पर दूसरे पैनल लगाने की सुध नहीं थी, पर डीएम के आने से कुछ ही दिन पहले इसे लगवा दिया गया साथ ही सौर पैनलों की संख्या बढ़ा कर पांच कर दी गई

- ख़राब व गंदे पड़े शौचालयों को साफ़ कराया गया और कुछ नए शौचालयों का भी निर्माण कराया गया

- स्कूल में टूटे झूलों की मरम्मत की गई साथ ही नए वालीबॉल कोर्ट का निर्माण कराया गया

- स्कूल के साथ पूरे गाँव की भी काया पलट कर दी गई

- आमतौर पर भरी पड़ी रहने वाली नाली आज चूना पड़ने की वजह से सफ़ेद दिखाई दे रही है

- वैसे तो गाँव के खम्भों पर सड़क लैंप कम ही दिखती है, पर आज पूरा गाँव रौशनी से जगमगा रहा है टूटे हुए खम्भों की जगह नए खम्भे लगाये गए हैं

- पिछले पांच साल से पंचायत में मौजूद स्वास्थ केंद्र एक खंडहर मात्र था, पर रातों रात इसे एक नए स्वास्थ केंद्र में बदल दिया गया इसमें घुसते ही ताज़े पेंट की खुशबू इसकी रातोंरात तरक्की का सबूत है

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.