सीएम साहब, हमारे गाँव में कब आएगी बिजली

सीएम साहब, हमारे गाँव में कब आएगी बिजलीआज भी हजारों गांवों में लालटेन हैं रोशनी का सहारा।

सिंहइया( सीतापुर) । आजादी के 68 साल बाद भी देश पूरी तरह विकास नहीं कर पाया है। आज भी कई जगह ऐसी हैं जहां पर लोगों ने सिर्फ बिजली का नाम ही नाम सुना है। उनके गाँव में आज तक बिजली नहीं पहुंच पाई है। चुनाव के पहले सभी राजनीतिक पार्टियां तमाम वादे करती हैं, लेकिन चुनाव जीतने के बाद कोई उन वादों को अमली जामा नहीं पहनाता है। अब नई सरकार से गाँव वाले आस लगाए बैठे हैं, शायद योगी सरकार में उनके गाँव में बिजली पहुंच जाए।

सीतापुर मुख्यालय से 84 किलोमीटर दूर रामपुर मथुरा विकास खण्ड में स्थित सिंहइया गाँव आज भी बिजली की सुविधा से परे है। हर पाँच साल पर चुनावी समय में नेता आते हैं, और बिजली देने का वादा कर जाते हैं, पर वह आज तक नहीं पूरा हुआ। हजारों लोगों की आबादी वाले इस गाँव में रात में आज भी अँधेरा रहता है जो उत्तर प्रदेश सूबे के विकास की बदहाली को दर्शाता है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

बिजली न होने से न तो किसान ट्यूबेल और दूसरी आधुनिक विधियों से सिंचाई कर पाते हैं और न ही छात्र रात में आसानी से पढ़ाई कर पाते हैं। छात्रों को पढ़ाई करने के लिए लालटेन का ही इस्तेमाल करना पङता है। आज भी रोशनी के लिए मिट्टी के तेल पर ही आश्रित हैं। जहां शहरों में 24 घंटे बिजली देने की बात की जा रही है, वहीं इस गाँव के लोग बिजली के अभी भी मोहताज हैं।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top