न सड़क चाहिए, न बिजली, सिर्फ पानी दे दीजिए

न सड़क चाहिए, न बिजली, सिर्फ पानी दे दीजिएसीतापुर के बिराहिमबाद गाँव में पीने का पानी भी नहीं मिल रहा है।

अश्विनी द्विवेदी ,स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

सीतापुर। गर्मी बढ़ते ही जिले के कई गाँवों में जल स्तर नीचे चले जाने से सिंचाई तो दूर पीने का पानी भी नहीं मिल रहा है।जनपद मुख्यालय से 54 किमी. दूर ग्राम सभा कोडरिया के अंतर्गत आने वाले बिरहिम बाद, कोडरिया, गुलालपुर, चंदौली, चमर पुरवा मिलाकर करीब 4500 लोगों की आबादी वाली इस ग्राम पंचायत में मूल सुविधाए न के बराबर हैं, न बिजली है, न ही सड़क।

गाँव से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

एक तरफ जहां पंचायत के 26 कुएं और सारे तालाब सूख गए हैं, वही दूसरी तरफ गाँव में लगे अधिकांश सरकारी नल खराब हैं। सही चल रहे सरकारी नलों पर भीड़ होने के कारण आये दिन ग्रामीणों में आपस में मारपीट हो जाती है। बिराहिम बाद गाँव के 60 वर्षीय बैजनाथ मिश्रा कहते हैं, “गाँव में अकेले ही लगभग 600 लोगों की आबादी है, जिसमें मात्र तीन नल हैं, जो सही से काम नही कर रहे। कुएं, तालाब तक सूख गए।

कई बार प्रधान के माध्यम से और उच्च अधिकारियों को प्रार्थना पत्र दिया पर पेयजल की समस्या आज तक दूर नहीं हो सकी।” बिरहिम बाद निवासी अनुराग का कहना है कि पिछले डेढ़ साल में कई बार जनप्रतिनिधियों से लेकर अधिकारियों तक गुहार लगायी लेकिन कोई सुनवाई नही हुई। वहीं, मुख्य विकास अधिकारी रविन्द्र कुमार कहते हैं, ”गर्मी के मौसम में यह बड़ी समस्या है। हम जल्द ही ग्राम पंचायत कोडरिया व सभी मजरों में पेयजल की व्यवस्था कराएंगे, ताकि लोगों को दिक्कतों का सामना न करना पड़े।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top