नलकूप खराब, किसान परेशान

नलकूप खराब, किसान परेशानपिछले कई महीनों से खराब पड़े नलकूप से किसान परेशान।

रबीश कुमार ,स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

फैजाबाद। ऐसे क्षेत्र में जहां सिंचाई के लिए कोई साधन नहीं है, वहां सिंचाई विभाग ने नलकूप लगाए हैं, लेकिन उसकी सही से देख रेख न होने से ये नलकूप पिछले कई महीनों से खराब पड़े हैं।

खेती किसानी से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

जिला मुख्यालय से लगभग 35 किलोमीटर स्थित मिल्कीपुर तहसील बिशही का नलकुप कई वर्षों से पूरी खराब पड़ा है। इसको देखने वाला कोई नहीं है] लोग अपनी फसल को बचाने के लिए निजी नलकूप तथा महंगे दामों पर डीजल लाकर के इंजन से सिंचाई करने पर मजबूर हैं तथा बिजली की वोल्टेज कम होने पर भी निजी नलकूप से सिंचाई करने में काफी दिक्कत हो रही है। राजेश कुमार (35 वर्ष) बताते हैं, “नलकूप ना चलने की वजह से हम लोगों को काफी दिक्कत का सामना करना पड़ता है जिससे फसलों को सिंचाई करने के लिए डीजल इंजन का सहारा लेना पड़ रहा है जो कि काफी महंगा साबित होता है।” तहसील सोहावल, मिल्कीपुर, रुदौली, सदर, कुमारगंज में मिलाकर लगभग 68 नलकूप बंद पड़े हैं, इनका सुध लेने वाला कोई भी नहीं है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top