नोटबंदी के बाद किसानों के ज़ख्मों पर प्रधानमंत्री का मरहम, 60 दिन का कर्ज माफ़

नोटबंदी के बाद किसानों के ज़ख्मों पर प्रधानमंत्री का मरहम,  60 दिन का कर्ज माफ़तीन करोड़ क्रेडिट कार्ड रुपे कार्ड में बदले जाएंगे।

लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को देश को संबोधित करते हुए किसानों व ग्रामीणों के लिए नए साल का तोहफा जारी किया। इसके तहत किसानों की राह को आसान करते हुए कर्ज में दो माह के ब्याज की माफी की है। इसके अलावा मोदी सरकार ने हर वर्ग के लिए क्या खजाना खोला है आइए जानें विस्तार से....

घर बनाना किया आसान

1. गरीब और निर्धन वर्ग के लोग घर खरीद सकें इसके लिए सरकार ने दो नई स्कीमें बनाई हैं।

2. इसके घर के लिए 9 लाख रुपए तक के कर्ज के ब्याज में 4 व 12 लाख रुपए तक के ब्याज में 3 प्रतिशत तक की छूट दी जाएगी।

3. प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत गाँवों में बनने वाले घरों का लक्ष्य अब वर्तमान से 33 फीसदी तक बढ़ा दिया गया है।

4. वर्ष 2017 में वे लोग जो गाँव के वे लोग जो अपने घर में एक या दो कमरे का निर्माण कराना चाहते हैं या नया घर बनाना चाहते हैं तो उन्हें दो लाख रुपए तक के ब्याज में तीन प्रतिशत की छूट दी जाएगी।

किसानों के लिए खोला पिटारा

1. डिस्ट्रिक्ट कोऑपरेटिव व सेंट्रल बैँकों से जिन किसानों ने कर्ज लिया है उनके 60 दिनों का ब्याज का वहन केंद्र करेगा।

2. नाबार्ड ने पिछले महीने 21 हजार करोड़ रुपए की व्यवस्था की थी। इसमें सरकार ने बीस हजार करोड़ का इजाफा किया है। नाबार्ड को जो भी नुकसान होगा उसका वहन भी सरकार करेगी।

3. अगले तीन महीने में तीन करोड़ किसान क्रेडिट कार्ड को रुपे कार्ड में तब्दील किया जाएगा। इससे किसान कहीं भी अपने मुताबिक, सामानों की खरीद कर सकेंगे। इससे किसानों को बैंकों के चक्कर नहीं काटना पड़ेगा।

लघु और मध्यम उद्योग वालों को भी तोहफा

1. सरकार ने छोटे और लघु उद्योगों यानी एमएसएमई के तहत आने वाले छोटे कारोबारियों को तोहफा देते हुए क्रेडिट गारंटी को एक करोड़ रुपए से बढ़ाकर दो करोड़ रुपया कर दिया है। इससे छोटे कारोबारियों द्वारा लिए गए दो करोड़ रुपए के कर्ज की गारंटी सरकार लेगी। यह गारंटी एक ट्रस्ट के माध्यम से उठाया जाएगा।

2. एनबीएफसी (नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल कमेटी) के तहत दिया जाने वाला कर्ज भी इसके अधीन होगा।

3. डिजिटल ट्रांजेक्शन का क्रेडिट 20 से 25 प्रतिशत तक बढ़ाया जाना तय किया गया है।

4. अब ऐसे व्यापारी जो दो करोड़ का व्यापार करते थे उनके टैक्स की गणना छह प्रतिशत के कराधान के तहत किया जाएगा। पहले यह आठ प्रतिशत के तहत की जाती थी।

5. मुद्रा योजना के तहत दी जाने वाली सुविधा को भी अब दोगुना करने का इरादा है। इस योजना के तहत पिछले वर्ष करीब साढ़े तीन करोड़ लोगों ने इसका फायदा उठाया है।

महिलाओं का इलाज

1. गर्भवती महिलाओं के लिए देशव्यापी योजना की शुरुआत करते हुए देश 650 से ज्यादा जिलों में उनके टीकाकरण, पंजीकरण और पौष्टिक आहार के खर्च के लिए छह हजार रुपए केंद्र की ओर दिया जाएगा।

वरिष्ठ नागरिकों के लिए खास

1. वरिष्ठ नागरिकों के लिए सरकार ने एक नई योजना शुरू करते हुए बैंक में ज्यादा रुपया आने पर डिपॉजिट की राशि पर ब्याज घटाने के नियम में बदलाव में किया है। इसके तहत वरिष्ठ नागरिकों के खाते में यदि साढ़े सात लाख रुपए तक जमा हैं तो उनके लिए दस वर्ष के लिए आठ प्रतिशत का ब्याज तय किया जाता है। वे इस ब्याज की राशि को प्रतिमाह प्राप्त भी कर सकते हैं।




Share it
Top