स्वच्छता सर्वेक्षण 2018 : हमारा शहर साफ है या नहीं यह अब शहरवासी ही बताएंगे

स्वच्छता सर्वेक्षण 2018 : हमारा शहर साफ है या नहीं यह अब शहरवासी ही बताएंगेफोटो: गाँव कनेक्शन 

नवीन द्विवेदी/स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

उन्नाव। हमारा शहर साफ है या नहीं यह अब शहरवासी बताएंगे। सफाई के मामले में शहर किस पायदान पर है इसको लेकर जनवरी 2018 में स्वच्छता सर्वेक्षण कराया जाएगा।

इस सर्वेक्षण में खुले में शौच से मुक्ति, कूड़ा निस्तारण व सफाई के मुद्दे पर शहरवासियों से सवाल पूछे जाएंगे। जवाब के आधार पर शहर को नंबर आवंटित होंगे और शहर की रेटिंग तय होगी। नगर पालिका ने सर्वेक्षण शुरू होने से पहले शहर को साफ-सुथरा बनाने की पहल शुरू कर दी है। बताते चलें कि 2017 जनवरी में पहला स्वच्छता सर्वेक्षण कराया गया था, जिसमें जनपद को स्वच्छता के मामले में 417वां स्थान मिला था।

इस रैंकिंग को सुधारने के लिए लगातार नगर पालिका व नगर पंचायते प्रयासरत हैं। नगर पालिका की ओर से विशेष सफाई अभियान चलाने के साथ ही डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन की सुविधा भी शुरू कर दी गई है। इस बीच एक बार फिर जनवरी 2018 में स्वच्छता सर्वेक्षण होना है। सर्वेक्षण से पहले लखनऊ में मंडल के जिलों के नगर निकायों के अधिकारियों की एक बैठक हुई थी।

ये भी पढ़ें- उन्नाव: अब घर-घर जाकर पालिका कर्मी इकट्ठा करेंगे कूड़ा

रैंकिंग सुधारने के लिए शहर को स्वच्छ बनाया जा रहा है। उम्मीद है कि इस बार शहरवासी अच्छी रैंकिंग दिलाएंगे।
सुनील कुमार मिश्रा, ईओ

बैठक में नगर पालिका व नगर पंचायतों के अधिकारियों को स्वच्छता सर्वेक्षण से जुड़ी अहम जानकारियां दी गई थीं। उन्हें बताया गया था कि स्वच्छता का सर्वेक्षण खुले में शौच से मुक्ति, ठोस अपशिष्ट, प्रबंधन, कूड़े का सही तरीके से निस्तारण, सफाई व्यव्स्था के आधार पर किया जाएगा।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top