इस गाँव में ग्रामीणों के हैं आलीशान बंगले, हर शख्स है लखपति

Kushal MishraKushal Mishra   22 Nov 2016 5:48 PM GMT

इस गाँव में ग्रामीणों के हैं आलीशान बंगले, हर शख्स है लखपतिचीन के जिगांशू प्रांत में है यह गाँव, नाम हुक्सी।(सभी फोटो साभार: गूगल)

अभी तक आप हमेशा गाँवों में गरीबी, अशिक्षित लोग और झोपड़ियां में रहने वाले ग्रामीण ही देखते आए होंगे, मगर आज हम आपको एक ऐसे गाँव के बारे में बताने जा रहे हैं, जहां रहने वाला हर एक ग्रामीण लखपति है। इस गाँव के लोग कार से चलते हैं, आलीशान घर में रहते हैं और हर तरह की सुख-सुविधाओं का लाभ उठाते हैं, वो भी मुफ्त में। इसी वजह से यह एकमात्र ऐसा अमीर कृषि गाँव है। आइये आपको इस गाँव के बारे में कई रोचक जानकारियां बताते हैं।

एक शख्स ने बदल दी गाँव की तस्वीर

इस गाँव का नाम है हुक्सी और यह गाँव पूर्वी चीन के जिगांशू प्रांत में स्थित है। इस गाँव की आबादी 2,000 है और यहां हर ग्रामीण की सालाना आमदनी 80 लाख रुपये है। आज यह गाँव भले ही दुनिया के सबसे अमीर कृषि गाँव में गिना जाता है, मगर कभी इस गाँव में कृषि की हालत बहुत खराब थी। धीरे-धीरे इस गाँव की सूरत बदलने लगी और एक शख्स ने इस गाँव की कायापलट कर दी। यह शख्स गाँव की कम्यूनिस्ट पार्टी कमेटी के पूर्व अध्यक्ष 'वू रेनवाओ' रहे। इनकी ही बदौलत हुक्सी गाँव आज एक सफल समाजवादी गाँव का मॉडल पेश कर रहा है।

गाँव में कुछ इस तरह बने ग्रामीणों के घर।

'वू' ने ऐसे बदली गाँव की सूरत

इस गाँव में हैं गगनचुंबी इमारतें।

वू रेनवाओ ने सबसे पहले इस गाँव का निरीक्षण किया। तब यहां कृषि की हालत बहुत खराब थी। तब उन्होंने गाँव में औद्योगिक विकास की योजना तैयार की। इसके बाद उन्होंने मल्टी सेक्टर इंडस्ट्री कंपनी बनाई। इसके तहत उन्होंने सामूहिक खेती की प्रणाली का नियम बनाया और सन 1990 में कंपनी के शेयर को शेयर बाजार में सूचीबद्ध करवाया। बड़ी बात यह है कि उन्होंने गाँव के लोगों को कंपनी में शेयर होल्डर बनाया।

ग्रामीणों को ये मिलती हैं सुविधाएं

हुक्सी गाँव का एक दृश्य।

एक वेबसाइट के मुताबिक, इसके बाद कृषि के साथ-साथ गाँव की स्टील, सिल्क और ट्रैवल इंडस्ट्री खासतौर पर विकसित हुई और सन 2012 में मुख्य रूप से 9.6 अरब डॉलर के लाभ का योगदान दिया। उनकी वार्षिक आय का 80 प्रतिशत टैक्स में कट जाता है। मगर इसके बदले कंपनी में पंजीकृत लोगों को यानी ग्रामीणों को आलीशान घर, कार, मुफ्त स्वास्थ्य सेवा, मुफ्त शिक्षा, होटल में मुफ्त खाने की सुविधा के साथ-साथ सुरक्षा तो मिलती है, साथ ही ग्रामीणों को शहर के हेलीकॉप्टर के मुफ्त इस्तेमाल की भी सुविधा भी मिलती है। इतना ही नहीं, गाँव में 55 साल से ज्यादा पुरुषों और 50 साल से ज्यादा उम्र की महिलाओं को हर महीने की पेंशन के साथ-साथ भोजन की सुविधा भी दी जाती है।

गाँव के ग्रामीणों को मिलती है हैलीकॉप्टर की सुविधा।

अगर गाँव छोड़ा तो अब बन जाएंगे गरीब

इस गाँव में गगनचुंबी इमारतें, कंपनियां और कई होटल समेत कई सुख-सुविधाएं भी हैं। ग्रामीणों के लिए इस गाँव में किसी चीज की कोई कमी नहीं है। मगर इस गाँव के सामाजिक कानून बड़े सख्त हैं। अपनी आर्थिक विकास के कारण ही इस गाँव की चीन में अपनी अलग पहचान है। मगर जब कोई ग्रामीण यह गाँव छोड़ता है तो सभी सुख-सुविधाओं से वंचित हो जाता है और उसके पास कुछ नहीं रहता।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top