लखनऊ के इन गांवों के बहुरेंगे दिन , करीब 50 हजार की आबादी को होगा फायदा

लखनऊ के इन गांवों के बहुरेंगे दिन , करीब 50 हजार की आबादी को होगा फायदाश्यामा प्रसाद मुखर्जी रुर्बन योजना के तहत गाँवों का विकास शहरों की तर्ज पर किया जाएगा।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

लखनऊ। केंद्र सरकार की श्यामा प्रसाद मुखर्जी रुर्बन योजना के तहत गाँवों का विकास शहरों की तर्ज पर किया जाएगा। लखनऊ जिले में सबसे बड़ी ग्राम पंचायत और उसके आसपास रहने वाली 25 से 50 हजार की आबादी को इस योजना का लाभ मिलेगा।

अपर आयुक्त मनरेगा एसके चन्दौल बताते हैं, “इस योजना में लगभग 20 विभाग के लोग मिलकर काम करेंगे। 30 फीसदी खर्च केन्द्र सरकार करेगी और 70 फीसदी राज्य सरकार। कलेस्टर बनाने का काम इसी वर्ष शुरू किया जाएगा।” चन्दौल आगे बताते हैं, “श्यामा प्रसाद मुखर्जी रुर्बन योजना को जिले की सबसे बड़ी ग्राम पंचायत और उसके पांच किमी दायरे में आने वाली 10 ग्राम पंचायतों में लागू किया जाना है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

जिले की सबसे ग्राम पंचायत चिनहट की जुग्गौर के 10 गाँवों को इस योजना के लाभ के लिए चयनित किया है। इन गाँवों के विकास के लिए केन्द्र सरकार 30 करोड़ रुपए खर्च करेगी और प्रदेश सरकार 70 करोड़ खर्च करेगी। इस योजना में चयनित 10 गाँवों के विकास के लिए 110 करोड़ रुपए का प्रस्ताव भेजा गया है। बजट मिलते ही विकास कार्य शुरू हो जाएंगे।”

राजधानी की ग्राम पंचायतों को मिलेगा योजना का लाभ

श्यामा प्रसाद रुर्बन योजना में चिनहट की जुग्गौर, नरेंदी और लौलाई, मेहौरा, अनौराकला, पननामऊ गनेशपुर-रहमानपुर, उत्तरधौना, सरांयशेख, सिकंदरपुर ग्राम पंचायतों को शामिल किया गया है। इन गाँवों में 729 स्ट्रीट लाइटें लागाई जाएंगी। गनेशपुर में मिनी स्टेडियम बनाया जाएगा। पानी की टंकी, पेयजल के लिए ट्यूवबेल, वॉटर लाइन, प्राइमरी स्कूलों की मरम्मत, सभी प्राइमरी स्कूलों में वाई-फाई की सुविधा होगी। स्मार्ट क्लासेज के लिए कम्प्यूटर की सुविधा दी जाएगी।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top