Top

हमने किया फैसला, खुले में नहीं करेंगे शौच

हमने किया फैसला, खुले में नहीं करेंगे शौचगाँव कनेक्शन फाउंडेशन की तरफ से शौच से मुक्त करने के लिए जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन हुआ।

आभा ,स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

तिर्वा (कन्नौज)। ‘‘आज हमारे गाँव में ब्लॉक से टीम आई थी, जो हमें खुले में शौच करने का नुकसान बता गई है। टीम से हमें जानकारी मिली है कि खुले में शौच करने से बीमारियां होती हैं। इसलिए हमने फैसला किया है कि हम खुले में शौच नहीं करेंगे और दूसरों को भी नहीं करने देंगे।’’ यह कहना है कन्नौज जिला मुख्यालय से करीब 19 किमी दूर बसे उमर्दा ब्लॉक क्षेत्र के गाँव भगतपुर्वा निवासी 30 वर्षीय संजना का।

गाँव से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

मंगलवार को उमर्दा ब्लॉक क्षेत्र के ग्राम विकास अधिकारी राजबहादुर, खंड प्रेरक जितेंद्र कुमार और स्वच्छता दूत किरन तथा गाँव कनेक्शन फाउंडेशन के संयुक्त प्रयास से भगतपुर्वा को ओडीएफ यानि खुले में शौच से मुक्त करने के लिए जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन हुआ। इसमें बताया गया कि खुले में शौच जाने से बहू-बेटियों को शर्मशार होना पड़ता है। सबसे ज्यादा छेड़खानी और रेप आदि की घटनाएं खुले में शौच करने के कारण ही होती हैं।

गाँव के ही 50 वर्षीय सुभाष का कहना है कि ‘‘हमारे गाँव भगतपर्वा में विकास खंड उमर्दा से कुछ अधिकारी लोग आए थे। खुले में शौच न जाएं। इससे गंदगी बढ़ती है। मल पर जो मक्खियां बैठती हैं, वही भोजन पर जाकर बैठती हैं, इससे बीमारियां बढ़ती हैं। इससे हम लोग संकल्प लेते हैं कि खुले में शौच नहीं जाएंगे।’’ वह आगे बताते हैं कि लोग शराब पीने में पैसा बर्बाद कर देते हैं, लेकिन शौचालय नहीं बनवाते हैं।

ग्रामीणों को बाहर शौच न जाने के लिए प्रेरित किया गया। इसके लिए मक्खी, पानी, शादी, बीमारी आदि का टूल ट्रिगरिंग के तहत प्रयोग किया गया।
राजबहादुर, ग्राम विकास अधिकारी

12 साल का आकाश बताते हैं, ‘‘यहां पर हमें काफी जानकारी मिली है, हम दूसरे लोगों को भी खुले में शौच जाने से रोकेंगे।’’ वहीं, ग्राम विकास अधिकारी राजबहादुर ने बताया, ‘‘ग्रामीणों को बाहर शौच न जाने के लिए प्रेरित किया गया। इसके लिए मक्खी, पानी, शादी, बीमारी आदि का टूल ट्रिगरिंग के तहत प्रयोग किया गया।’’

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.