#Exclusive एक महीना योगी का : क्या कहते हैं यूपी के गाँव और शहरों के लोग

Ankita TiwariAnkita Tiwari   19 April 2017 6:21 PM GMT

#Exclusive  एक महीना योगी का : क्या कहते हैं यूपी के गाँव और शहरों के लोगयूपी में नई सरकार पर पहला सर्वे।

लखनऊ। मुख्यमंत्री बनने के एक माह के अंदर योगी आदित्यनाथ द्वारा लिए गए निर्णयों को सही मानते हुए 62 प्रतिशत लोगों ने अपनी सहमति जताई है। भारत के सबसे बड़े ग्रामीण मीडिया प्लेटफार्म ‘गाँव कनेक्शन’ द्वारा उत्तर प्रदेश में किए गए इस सर्वे में 71 प्रतिशत लोगों ने माना कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सही दिशा में काम कर रहे हैं।

योगी सरकार के 30 दिन पूरे

यूपी की नई सरकार द्वारा अवैध बूचड़खानों को बंद करना और मनचलों पर लगाम लगाने के लिए चलाया गया 'एंटी रोमियो अभियान’ सर्वे के अनुसार काफी चर्चा में रहा। गाँव कनेक्शन ने इस सर्वे को यूपी के 20 जिलों के 200 ब्लॉक के लोगों के बीच किया। प्रदेश में कुल 75 जिले और 820 ब्लॉक हैं।

गाँव कनेक्शन का सर्वे

सर्वे जिन जिलों में किया गया उनमें बदहाल बुंदेलखंड से लेकर उत्तर प्रदेश के दूरस्थ जिले सोनभद्र से लेकर मेरठ से सिद्धार्थनगर तक शामिल हैं। देश में राजनीतिक रूप से महत्वपूर्ण उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री के रूप में योगी आदित्यनाथ ने 19 मार्च, 2017 को शपथ ली। भारतीय जनता पार्टी ने ऐतिहासिक जीत दर्ज करते हुए यूपी में कुल 403 सीटों में से 325 सीटें अपने कब्जे में कीं।

पढ़िए क्या कहते हैं यूपी के लोग।

वहीं, सर्वे के दौरान जब लोगों से पूछा गया कि प्रदेश सरकार के सबसे असरदार निर्णयों में क्या रहा? तो अवैध बूचड़खानों को बंद करने के निर्णय को सबसे अधिक 38.1 प्रतिशत लोगों ने असरदार माना। जबकि दूसरे नंबर पर 25.4 प्रतिशत लोगों के साथ 'एंटी रोमियो अभियान' को असरदार माना गया। जबकि मनचलों की धरपकड़ के लिए बनाई गई एंटी रोमियो स्क्वायड का फैसला प्रदेश की महिलाओं में सबसे अधिक चर्चित रहा। इसे 38 प्रतिशत महिलाओं का समर्थन मिला।

बूचड़खाने पर पाबंदी सबसे असरदार फैसला।

अवैध बूचड़खानों पर प्रतिबंध को लेकर आलोचकों ने आरोप लगाया कि यह मुस्लिम विरोधी फैसला है, जबकि एंटी रोमियो अभियान पर भी खूब हंगामा हुआ, सरकार के इस फैसले के बाद कई जगहों पर कुछ असमाजिक तत्वों ने युवाओं से बदसलूकी भी की, विपक्ष ने मुद्दा बनाया, लेकिन जनता को फैसला भी पसंद आया है। सर्वे से पता चलता है कि सरकार के इस अभियान को जनता का जबरदस्त समर्थन मिला।

यूपी के लोगों के लिए बेरोजगारी सबसे बड़ी समस्या, सबसे पहले इसका हो निदान

उत्तर प्रदेश के लोगों ने सबसे बड़ी समस्या बेरोजगारी को माना है। जब सर्वे के दौरान लोगों से पूछा गया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को प्राथमिकता से किन समस्याओं को हल करना चाहिए तो सबसे अधिक 29.8 प्रतिशत ने बेरोजगारी की समस्या प्रमुखता से निपटाने की बात कही। प्रदेश की कानून-व्यवस्था को 23.8 प्रतिशत ने, 17.9 प्रतिशत ने महिला सुरक्षा और 15.3 प्रतिशत ने कृषि सुधार को प्राथमिकता देने को कहा।

54.9 फीसदी लोगों ने माना योगी के निर्णयों का असर दिख रहा है।

सर्वे से जुड़े विस्तृत चार्ट और डायग्राम वेबसाइट www.gaonconnection.com, और गाँव कनेक्शन के एंड्रायड ऐप पर देखे जा सकते हैं।

गाँव कनेक्शन इनसाइट टीम की सदस्य अंकिता तिवारी ने बताया, "यह सर्वे उसी तरह से किया गया है, जैसे समय-समय पर अमेरिका के राष्ट्रपति की अप्रूवल रेटिंग इंडेक्स के लिए किया जाता है," आगे बताया, "इसमें शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के 2000 लोगों से बात की गई है, जिसमें गलती की संभावना (मार्जिन ऑफ एरर) दो प्रतिशत है।

62.2 फीसदी लोग योगी सरकार के एक महीने के कामकाज से नजर आए खुश।

जब लोगों से पूछा गया कि योगी आदित्यनाथ सही दिशा में काम कर रहे हैं, तो 71.6 प्रतिशत ने कहा, ''हां", और 24.8 प्रतिशत ने "कुछ भी नहीं कह सकते" चुना। इस सवाल के जवाब में कि सीएम योगी का काम ज़मीन पर दिख रहा है, 54.9 प्रतिशत ने कहा, "हां", जबकि 39.9 प्रतिशत ने कहा कुछ ही प्रभाव ज़मीन पर दिख रहा है।

इस पर 58.1 प्रतिशत लोगों की हां थी जब उनसे पूछा गया कि अब केन्द्र की योजनाएं पहले की अपेक्षा गाँवों तक पहुंचना आसान हो जाएगा। 39 प्रतिशत लोग इससे इसलिए सहमत नहीं हैं, क्योंकि ग्रामीण जनता में जानकारी का अभाव है।

पढ़िए क्या कहते हैं सरकार के कामकाज पर यूपी के लोग।

यह सर्वे जिन लोगों के बीच किया गया उनमें, 22 प्रतिशत छात्र, 21 प्रतिशत घरेलू महिलाएं, 18.7 प्रतिशत प्राइवेट जॉब करने वाले, 15.5 प्रतिशत व्यापारी और 13 प्रतिशत किसान हैं। इनमें से 61 प्रतिशत लोगों की उम्र 25 से 50 वर्ष, 27.7 प्रतिशत की उम्र 25 वर्ष से कम, बाकी लोगों की उम्र 50 वर्ष से अधिक है।

66.1 फीसदी ने माना कि योगी आदित्यनाथ बीजेपी के सबका साथ सबका विकास की अवधारणा पर खरे उतरेंगे।

गाँव कनेक्शन भारत का एक ऐसा सबसे बड़ा प्लेटफार्म है, जहां ग्रामीण समुदायों के लिए जमीनीस्तर पर जागरूकता के कार्यक्रमों को प्रिंट, आडियो-वीडियो के माध्यम से एक साथ आयोजित किया जाता है। दिसंबर, 2016 में इसने देश के सबसे बड़े ग्रामीण उत्सव 'स्वयं फेस्टिवल' का सफलतापूर्वक आयोजन किया।

यूपी की जनता ने अवैध बूचड़खानों पर पाबंदी को माना सबसे अच्छा फैसला

योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री का पद संभालने के साथ ही सबसे पहले अवैध बूचड़खानों पर प्रतिबंध लगाने का फैसला लिया और प्रदेश की जनता ने उनके इस फैसले को दिल खोलकर समर्थन दिया। गांव कनेक्शन द्वारा किए गए सर्वे में 38.1 प्रतिशत लोगों की नजर में बूचड़खानों पर प्रतिबंध सबसे बड़ा और लोकप्रिय फैसला है। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

जनता चाहती है बेरोज़गारी खत्म करने पर ध्यान दे सरकार

प्रदेश में योगी सरकार ने आते ही कई बड़े फैसले लिए। कानून व्यवस्था दुरुस्त करने की पहल हुई तो वहीं महिला सुरक्षा और किसानों के लिए महत्वपूर्ण फैसले हुए। लेकिन जनता चाहती है सरकार सबसे पहले बेरोजगारी खत्म करने पर ध्यान दें। जनता की राय में ये प्रदेश की सबसे बड़ी समस्या है, जबकि दूसरी बड़ी समस्या कानून व्यवस्था है। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

सर्वे में शामिल स्वयं प्रोजेक्ट टीम। अश्विनी द्विवेदी- लखनऊ, वीरेंद्र शुक्ला-बाराबंकी, भीम कुमार- सोनभद्र, अनिल चौधरी,-पीलीभीत, दीनानाथ- सिद्धार्थनगर, महेंद्र राजपूत- ललितपुर, मोहित सैनी- मेरठ, ज्ञानेश शर्मा-अलीगढ़, अजय मिश्रा- कन्नौज, ऋषभ मिश्रा- शाहजहांपुर, विकास सिंह तोमर- सीतापुर, इश्तियाक खान- औरैया, भारती सचान- कानपुर देहात, राजीव शुक्ला-कानपुर नगर, श्रीवत्स अवस्थी- उन्नाव, किशन कुमार-रायबरेली, रबीश कुमार- फैजाबाद, टीम बहराइच, टीम चित्रकूट और इलाहाबाद से ओपी सिंह

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top