लखनऊ पहुंची बनारस की आग, प्रदर्शनकारियों ने कहा हम भी चुप नहीं बैठेंगे

लखनऊ पहुंची बनारस की आग, प्रदर्शनकारियों ने कहा हम भी चुप नहीं बैठेंगेबीएचयू प्रशासन के विरोध में पोस्टर 

लखनऊ। बीएचयू की छात्राओं के साथ हुए छेड़छाड़ के विरोध में देश भर के छात्र संगठन विरोध में छात्राओं के साथ खड़े हो गए हैं, लखनऊ विश्वविद्यालय और दूसरे छात्र संगठन के छात्र-छात्राओं ने आज बीएचयू प्रशासन के विरोध में धरना प्रदर्शन किया।

ये भी पढ़ें : बीएचयू विवाद : “कुर्ते में हाथ डाला था, कोई कहां तक बर्दाश्त करे”


प्रदर्शनकारियों ने पुलिस के खिलाफ आवाज उठाई, कल रात हुए लाठी चार्ज में कई लड़कियां घायल भी हो गईं थीं। एक कार्यकर्ता पूजा शुक्ला ने कहा, "बीएचयू परिसर में सुरक्षा की मांग कर रहीं लड़कियों को मारा जा रहा है, उन्हें चोट पहुंचायी गई, बीएचयू प्रशासन के सामने ये सब हुआ।"

लखनऊ के कवि व लेखक नरेश सक्सेना ने कहा, "लड़कियों को खुद अपनी आवाज बनना होगा, रजिया सुल्तान 23 साल में तख्त पर बैठ गई थी, आज दूसरी लड़कियां भी अपनी आवाज उठा रहीं हैं।"

गांधी प्रतिमा पर भारी संख्या में आए प्रदर्शनकारी

बनारस के बीएचयू में पत्रकारों और छात्राओं पर हमले को लेकर लखनऊ यूनिवर्सिटी में भी रविवार को प्रर्दशन किया गया। इस दौरान बड़ी संख्या में छात्र पुलिस प्रशासन की इस शर्मनाक हरकत के बाद धरने पर उतर आए हैं। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि सरकार को पुलिस की इस बर्बरता पूर्वक हमले के खिलाफ शख्त कार्यवाई करे वरना ये धरना इसी तरह जारी रहेगा। साथ ही छात्रों ने सरकार से बीएचयू के वीसी को बर्खास्त करने की भी मांग की।

ये भी पढ़ें : बीएचयू मामले में रवीश कुमार की टिप्पणी : आवश्यकता है ढंग के वाइस चांसलरों की

बीते गुरुवार को बीएचयू में एक छात्रा के साथ छेड़खानी के विरोध में बीएचयू में दो दिन तक विरोध प्रदर्शन चला। इसके बाद शनिवार आधी रात वीसी के घर के बाहर बढ़ते बवाल को देखते हुए पुलिस ने छात्रों के साथ छात्राओं पर भी लाठीचार्ज किया, जिसमें कई लड़कियां घायल भी हो गईं।

Share it
Top